इस साँप की सीटी किस चीज़ का इज़हार-ए-बयाँ है?

0 274

साँप यद्यपि एक सरीसृप जीव होते हैं, लेकिन फीलिंग्स सभी में होती है फिर चाहे वह सरीसृप हो या फिर होमोसेपियन्स। कहने का मतलब ये है कि चाहे साँप हो या फिर इंसान जो जैसा फील करता है वह वैसी प्रतिक्रिया देता है। इसलिए आज हम आपको एक ऐसे साँप के बारे में बताएँगे जो सीटी मारता है। जी हाँ, सीटी बजाने वाला यह साँप कोई मामूली साँप नहीं है, बल्कि यह भारत में पाया जाना वाला कोबरा के बाद दूसरा सबसे ज़हरीला साँप है। इसक नाम है रसेल वाईपर। मालूम हो कि रसेल वाईपर को आम बोल-चाल की भाषा में चन्द्रबोड़ा या बहरा-जोड़ा के नाम से भी जानते हैं।

why snake whistle know the real story

आपको बता दें कि रसेल वाईपर को भारत में ‘कोरिवाला’ के नाम से भी जाना जाता है। हालाँकि यह इंडियन क्रेट से कम जहरीला है, फिर भी यह साँप भारत का बहुत ही घातक साँप है। यह स्वभाव से बेहद गुस्सैल क़िस्म का साँप है, जो बिजली की तेज़ी की तरह हमला करने में सक्षम है। ये बात भी ग़ौर करने लायक है कि रसेल वाईपर के काटने की वजह से भारत में हर साल लगभग 25,000 लोगों की मौत हो जाती है।

why snake whistle know the real story

ग़ौरतलब है कि रसेल वाईपर को ज़रा सी बात पर ग़ुस्सा आ जाता है और यह अपने ग़ुस्से को तुरन्त दिखाता भी है। ज़रा से ग़ुस्से के बाद रसेल वाईपर अपने ग़ुस्से को थाम नहीं पाता है और तेज़ी से लम्बी-लम्बी सीटी बजाता है। ऐसा करते वक़्त यह ख़ुद को जलेबी की तरह गोल कर लेता है।

why snake whistle know the real story

ये बात भी ग़ौर करने लायक है कि रसेल वाईपर कभी-कभी इतना ग़ुस्सा हो जाता है कि यदि आप इसे मुँह या जबड़े से पकड़ भी लेते हैं तो यह ग़ुस्से से अपन जबड़े को ही फाड़ लेता है, ऐसे करते वक़्त यह साटी बजाता रहता है। ऐसे में ये बात काफ़ी दिलचस्प मालूम होती है कि रसेल वाईपर यानी की बहरा-जोड़ा सीटी बजा-बजाकर अपने ग़ुस्से का इज़हार करता है।

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.