IAS बनने के लिए आपको सेलेक्ट करनी होगी ये पढ़ाई

0 563

आईएएस परीक्षा को देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है और इसे क्लियर करना इतना आसान नहीं होता है बल्कि इसके लिए दिन रात कड़ी मेहनत करनी होती है। कैंडिडेट्स इस परीक्षा की तयारी 12वीं के बाद से ही करने लगते हैं। ऐसे में सभी के मन में यह सवाल जरूर आता है कि आईएएस एग्जाम की तैयारी करने के लिए ग्रेजुएशन में किस सब्जेक्ट का चुनाव करना सही निर्णय साबित होगा। ये बात ध्यान में रखना जरूरी है कि आपके द्वारा ग्रेजुएशन में चुना गया सब्जेक्ट आपके आईएएस बनने में एक अहम भूमिका निभाता है। तो आईये जानते है कि किस वषय का चुनाव करना आपके लिए शै रहेगा।

1.मानविकी-

यूपीएससी की तैयारी में मानविकी एक ऐसा विषय है जिस विषय को चुनने वाले स्टूडेंट सबसे अधिक इस परीक्षा को क्रेक कर पाते हैं। अगर आप हर साल यूपीएससी पास करने वाले कैंडिडेट्स का डेटा देखंगे तो आप देख पाएंगे कि अन्य किसी विषय की तुलना में मानविकी चुनने वाले छात्र छात्राओं द्वारा इस परीक्षा को पास करने का प्रतिशत अधिक होता है। इसलिए आप ग्रेजुएशन में भी इस सब्जेक्ट को चुन सकते हैं क्योंकि ऐसे में आपके द्वारा इस परीक्षा को पास करने के चांस बढ़ जाएंगे।

दसवीं पास वालों के लिए CISF कांस्टेबल और ट्रेडमैन में आई बम्पर भर्ती – देखें पूरी जानकारी

एमपी नेशनल हेल्थ मिशन ने दी टेक्निकल -पैरामेडिकल पर बम्पर भर्ती – आवेदन करें

मेट्रो में विभिन्न विभिन्न पदों पर नौकरी करने का सुनहरा अवसर –  सैलरी Rs.41800- 132300 (Per Month)

2.इंजीनियरिंग-

यूपीएससी में अब इंजीनियरिंग बैकग्राउंड के कैंडिडेट की सफलता की संख्या बढ़ी है। आईएएस परीक्षा में टॉप करने वाले कैंडिडेट इंजीनियरिंग या टेक्निकल बैकग्राउंड के रहे हैं। इसलिए इंजीनियरिंग विषय भी आईएएस परीक्षा के लिए चुनने के लिए बेस्ट है। लेकिन ये बात ना भूलें कि सब आपकी रूचि पर ही निर्भर करता है।

To become an IAS, you have to select these studies.

3.विज्ञान-

विज्ञान विषय चुनने वाले कैंडिडेट्स भी इस परीक्षा को क्लियर करते हैं लेकिन अन्य विषयों की तुलना में इनका प्रतिशत इतना अधिक नहीं है। हालाँकि वैज्ञानिक सोच और टेक्नोक्रेट की वजह से इस विषय के साथ एग्जाम क्लियर करने वालों की संख्या में इजाफा हो रहा है।

4.कॉमर्स-

बीकॉम, बीबीए, एमबीए, सीए आदि कॉमर्स फील्ड वाले कैंडिडेट आईएएस या यूपीएससी एग्जाम के लिए उतने आकर्षित नही होते है। लेकिन फिर भी पिछले कुछ सालों में एमबीए और बीकॉम बैकग्राउंड वाले कैंडिडेट भी इस परीक्षा में अपनी रूचि दिखा रहे है। यूपीएससी परीक्षा में अब तर्क, डाटा, गणित की व्याख्या और निर्णय लेने की क्षमता जैसे सेक्शन को शामिल किया गया है जो कॉमर्स बैकग्राउंड वाले छात्रों के लिए सही है।

loading...

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.