नौकर आलस में पड़ा रहा…!

थोड़ी देर बाद भी मच्छर गुनगुना रहे थे…!

मालिक ने फिर नौकर से कहा, मच्छर मारे नहीं क्या…?

नौकर ने मालिक से कहा: मच्छर को तो कब के मार दिये,

ये तो उनकी विधवा पत्नियों की रोने की आवाज़ें है……!

टीचर – “बेटा, अगर सच्चे दिल से भगवान से प्रार्थना की जाये

तो वो जरूर सफल होती है !”

स्टूडेंट – “रहने दो सर, अगर ऐसा होता तो आप मेरे सर नहीं, ससुर

होते