Shani Dev Upay: यदि आप जीवन में बुध ग्रह की परेशानियों से जूझ रहे हैं तो शनि दोष दूर करने के लिए करें यह उपाय

0

शनि देव उपाय: अगर आप जीवन में लगातार परेशानियों का सामना कर रहे हैं तो यह सब शनि दोष के कारण हो सकता है, शनि दोष से छुटकारा पाने के लिए इस उपाय का प्रयोग करें।

शनिदेव को न्यायाधीश कहा जाता है। क्योंकि शनिदेव व्यक्ति को उसके कर्मों के अनुसार दंड और शुभ फल देते हैं। इसीलिए शनिदेव को कर्म प्रधान देवता भी कहा जाता है। शनिदेव के शुभ प्रभाव से व्यक्ति का जीवन धन्य हो जाता है और उसकी सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं।

लेकिन जब शनिदेव दंड देते हैं. फिर इंसान को राजा से रंक बनने में देर नहीं लगती. वहीं जिस व्यक्ति पर शनिदेव की साढ़ेसाती या पनोती चल रही होती है उसके जीवन में एक के बाद एक परेशानियां आती रहती हैं। इसीलिए ज्योतिष शास्त्र में शनि को सभी नौ ग्रहों में सबसे उग्र ग्रह माना जाता है।

इसके साथ ही ज्योतिष शास्त्र में शनि को प्रसन्न करने के कुछ उपाय भी बताए गए हैं। इन उपायों को करने से कुंडली में शनि अनुकूल रहता है। ये उपाय साढ़ेसाती और पनोती जैसी शनि दशा के प्रभाव को भी कम करते हैं। अगर आपकी कुंडली में भी शनि भारी है तो करें ये उपाय.

शनिदेव के उपाय

  • काले कुत्ते की सेवा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं। शनिवार के दिन काले कुत्ते को सरसों के तेल में रोटी का टुकड़ा लगाकर खिलाने से शनि की दशा कम होती है।
  • शनिदेव को काला रंग पसंद है। इसलिए जिन लोगों की कुंडली में शनि ग्रह भारी है उन्हें काले पशु-पक्षियों को खाना खिलाना चाहिए और काले रंग की वस्तुओं का दान भी करना चाहिए।
  • शनिवार के दिन जल में तेल, चीनी और काले तिल मिलाकर पीपल के पेड़ पर चढ़ाएं और तीन परिक्रमा करें। इस उपाय को करने से भारी शनि का प्रभाव कम हो जाता है।
  • बजरंग बली की पूजा करने वालों या बजरंग बली के भक्तों पर शनिदेव की कुदृष्टि नहीं पड़ती। ऐसे में शनिवार के दिन शनिदेव के साथ-साथ बजरंगबली की भी पूजा करें और सुंदरकांड का पाठ करें।
  • सात नोक वाला रुद्राक्ष शनि ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है। इसे धारण करने से शनिदेव की कृपा प्राप्त होती है और शनि संबंधी सभी दोष दूर हो जाते हैं। शनिवार या सोमवार के दिन सात मुखी रुद्राक्ष को गंगा जल से शुद्ध करके धारण किया जा सकता है। फिर भी कुंडली में शनि की स्थिति अनुकूल हो जाती है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.