सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

School Health Program: 8 माह में 88 लाख से अधिक बच्चों की स्वास्थ्य जांच, इस जिले में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

3
School Health Program: Health check up of more than 88 lakh children in 8 months, best performance in this district

School Health Program:स्कूल स्वास्थ्य राष्ट्रीय बाल संरक्षण कार्यक्रम के तहत अप्रैल-2022 से 19 जनवरी 2023 तक राज्य के 88 लाख 49 हजार 809 बच्चों की जांच की जा चुकी है। इस प्रक्रिया में सबसे अधिक 6 लाख 47 हजार 502 बच्चों की जांच बनासकांठा जिले में की गई है। राज्य में आठ माह में 3195 बच्चे किडनी, हृदय और कैंसर जैसी बीमारियों से ग्रसित हुए हैं। जिसका सफल इलाज भी किया गया है।

School Health Program:सबसे बेहतर 165 फीसदी प्रदर्शन सूरत जिले में हुआ है

राज्य के स्वास्थ्य विभाग को मिली जानकारी के अनुसार खेड़ा जिले में 4.64 लाख, सूरत निगम में 4.53 लाख, कच्छ में 4.44 लाख, अहमदाबाद निगम में 3.92 लाख, मेहसाणा में 3.90 लाख, आणंद में 3.87 लाख, आणंद में 3.27 लाख बच्चों की जांच की जा चुकी है. राजकोट में। राज्य के कई जिलों ने अच्छा प्रदर्शन किया है और निर्धारित स्क्रीनिंग लक्ष्य का 100 प्रतिशत से अधिक हासिल किया है। जिसमें सबसे अच्छा 165 प्रतिशत प्रदर्शन सूरत जिले में हुआ है।

13 बच्चों का किडनी ट्रांसप्लांट किया गया
राज्य में जांच किए गए 88.49 लाख बच्चों में से 3195 बच्चों में किडनी, हृदय, कैंसर जैसी विभिन्न बीमारियों का निदान किया गया। जिसका सफल इलाज किया गया है। जिसमें 2110 बच्चों को हृदय रोग का उपचार, 724 को किडनी का उपचार, 337 को कैंसर का उपचार दिया गया है। इस योजना के तहत 13 बच्चों का किडनी ट्रांसप्लांट, 10 बच्चों का बोन मैरो ट्रांसप्लांट और 1 बच्चे का लिवर ट्रांसप्लांट उपचार भी शामिल किया गया है.

बाल संरक्षण कार्यक्रम मोबाइल हेल्थ टीमें काम कर रही हैं
स्कूल स्वास्थ्य राष्ट्रीय बाल संरक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत निर्धारित योजना के अनुसार आंगनबाड़ी के नवजात से लेकर 6 वर्ष तक के बच्चे, पहली से 12वीं तक के सभी छात्र, 18 वर्ष तक के स्कूल जाने वाले और न जाने वाले बच्चे, आश्रमशालाओं, मदरसों के बच्चे, बाल गृह होंगे आरबी. एस.के. मोबाइल स्वास्थ्य टीम द्वारा स्वास्थ्य जांच और रेफरल सेवा के माध्यम से सभी बच्चों का नियमित रूप से इलाज किया जाता है। राज्य में कुल 1000 राष्ट्रीय बाल संरक्षण कार्यक्रम मोबाइल स्वास्थ्य दल कार्य कर रहे हैं। प्रत्येक टीम में दो आयुष डॉक्टर, एक फार्मासिस्ट और एक महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता शामिल हैं।

8 माह में 88 लाख से अधिक बच्चों का पोस्ट स्कूल स्वास्थ्य कार्यक्रम/स्वास्थ्य जांच, इस जिले में सबसे अच्छा प्रदर्शन सबसे पहले जीएसटीवी पर दिखाई दिया।

Advertisement

Comments are closed.