लोगो को हो सखती है मुश्किल बड़ी संख्या के कारण जानिए पूरी खबर

0 638

पटना : दीपावली 27 अक्तूबर व छठ पूजा दो नवंबर को है. दीपावली-छठ पूजा के दौरान दिल्ली, मुंबई, चेन्नई व अन्य शहरों में रहने वाले लोग बड़ी संख्या में घर आते हैं और पूजा बाद लौटते हैं. इससे नियमित ट्रेनों में कन्फर्म टिकट मिलना मुश्किल हो जाता है. कन्फर्म टिकट की मारामारी में मुंबई-पटना के बीच चलने वाली सुविधा एक्सप्रेस का किराया विमान से डेढ़ गुना अधिक हो गया है. इस स्थिति में भी 22, 25 व 29 अक्तूबर को मुंबई से पटना आने वाली सुविधा एक्सप्रेस में कन्फर्म टिकट उपलब्ध नहीं है.

सेकेंड एसी का किराया Rs 9175 :

सुविधा एक्सप्रेस में स्लीपर, थर्ड एसी व सेकेंड एसी के डिब्बे हैं. 22 अक्तूबर को मुंबई से पटना आने वाली सुविधा एक्सप्रेस के स्लीपर का किराया 2490 रुपये, थर्ड एसी का किराया 6435 रुपये व सेकेंड एसी का किराया 9175 है, जबकि उसी दिन मुंबई से पटना आने वाली फ्लाइट का किराया 6210 रुपये है.

नेशनल बैंक NABARD की डेवलपमेंट असिस्टेंट पदों की भर्ती- सैलरी 32,000 हिंदी जानने वाले अभी देखें 

HARYANA में HSSC ने निकाली पटवारी पदों पर नौकरियां – सैलरी 20000/- से ऊपर अंतिम तिथि: 16 सितम्बर 2019

दिल्ली में 34000 की सैलरी पाने के लिए इन असिस्टेंट टीचर / जूनियर इंजिनियर 982 पदों पर करें आवेदन – देखें पूरी डिटेल अंतिम तिथि: 15 अक्टूबर 2019

8TH और 10TH पास लोगों के लिए बिहार के इस डिपार्टमेंट ने निकाली है बम्बर वेकेंसी

हालांकि, 25 अक्तूबर को मुंबई से पटना आने वाली फ्लाइट का किराया 10 हजार रुपये से अधिक है. इतना ही नहीं, छठ पूजा से पहले 29 अक्तूबर का वही किराया है, जो 22 अक्तूबर का है. लेकिन, 29 अक्तूबर को विमान का किराया 75 से 82 सौ रुपये के बीच है.

मांग के अनुरूप बढ़ता जाता है किराया

मुंबई-पटना-मुंबई के बीच दो नियमित ट्रेनें हैं. इसके अलावा साप्ताहिक ट्रेन है, जो पासिंग है. इन नियमित ट्रेनों के स्लीपर का किराया 670 रुपये, थर्ड एसी का 1770 रुपये, सेकेंड एसी का 2575 रुपये और फर्स्ट एसी का 4430 रुपये निर्धारित है. लेकिन, सुविधा एक्सप्रेस में डायनेमिक फेयर लागू है, जिसमें जैसे-जैसे टिकट की मांग बढ़ती है, वैसे-वैसे किराया बढ़ता जाता है. सुविधा एक्सप्रेस में बेस किराये से साढ़े तीन गुना तक किराया बढ़ाने का प्रावधान किया गया है.

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.