सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

नाखून चबाने से हो सकती है यह खतरनाक बीमारियां !

0 245

नाखून चबाना एक सामान्य आदत है। यह आदत व्यक्ति के नर्वस या तनाव में होने पर देखने को मिलती है। इसके अलावा यह सिर्फ एक आदत भी हो सकती है। लेकिन सेहत से जुड़े इसके कई नुकसान हैं। इससे नाखूनों की सामान्य वृद्धि पर तो असर पड़ता ही है साथ ही उनकी शेप भी अनियमित हो जाती है। जिससे हाथों का सौंदर्य भी कम होने लगता है। नाखूनों की उचित सफाई न रखने पर उनमें जमा कीटाणु खाने के जरिए पेट में जाकर संक्रमण का कारण बन जाते हैं। नाखूनों की परत के नीचे नुकसानदायक स्टेफिलोकोकस नामक बैक्टीरिया होता है, जो चबाने पर मुंह में चला जाता है।

नाखून से मुंह में बैक्टीरिया का स्थानांतरण– आप अपने हाथों को कितनी बार भी साफ करें लेकिन नाखूनों के भीतर गंदगी रह ही जाती है। नाखून बैक्टीरिया को विकसित होने का एक आदर्श वातावरण देते हैं, विशेष रूप से साल्मोनेला और ई कोलाई जैसे रोगजनक बैक्टीरिया को। जब आप नाखून काटते नहीं हैं तो बैक्टीरिया आपके मुंह से शरीर में प्रवेश कर आसानी से संक्रमण को स्थानांतरित करते हैं। नाखून उंगलियों से दोगुने गंदे होते हैं। इनमें बैक्टीरिया की आशंका भी अधिक होती है। नाखून चबाते वक्त मुंह के रास्ते शरीर में प्रवेश कर संक्रमण का कारण बनता है।

Quiz & Earn Money  go this link :  http://quizoffers.online/

नाखूनों में संक्रमण-नाखून चबाने वाले लोगों में पैरोनिशिया से पीडि़त होने का जोखिम बहुत ज्यादा होता है। पैरोनिशिया एक त्वचा संक्रमण है जो नाखून के आसपास की त्वचा में होता है। नाखून चबाने से उनके आसपास की त्वचा की कोशिकाओं की भी क्षति होती है। इनके जरिए बैक्टीरिया और दूसरे कीटाणु त्वचा में प्रवेश करते हैं। शल्य प्रक्रिया से द्वारा इस समस्या का इलाज किया जा सकता है।

वार्ट्स – बहुत अधिक नाखून चबाने वाले लोगों में मानव पेपिलोमा वायरस या एचपीवी के कारण संक्रमण फैलने की आंशका बहुत अधिक होती है, जिससे नाखूनों पर गांठ बन जाती है। वार्ट्स एचपीवी के कारण होने वाली त्वचा की समस्या है। लेकिन यह समस्या शरीर के अन्य हिस्सों की तुलना में हाथों और पैरों को ज्यादा प्रभावित करती है।

दांतों की समस्याएं – नाखूनों से निकलने वाली गंदगी दांतों को समय के साथ-साथ कमजोर करने लगती है। बहुत अधिक मात्रा में नाखून चबाने वाले लोगों में मुंह बंद करने पर ऊपरी और निचले दांतों को एक साथ आने पर समस्या होती है। अगर आप अक्सर अपने नाखूनों को चबाते है तो दांतों के अपने मूल स्थान से शिफ्ट होकर बाहर आने और कमजोर होने की भी बहुत अधिक आशंका रहती है।

आदत से बचने के उपाय – अपने हाथों की अच्छे से देखभाल करने से भी नाखून चबाने की आदत को कम किया जा सकता है। इसके लिए आप दो से तीन सप्ताह में एक बार किसी प्रोफेशनल से मैनीक्योर करवा सकते हैं। नाखून चबाने की इच्छा उत्पन्न होने पर क्रीम या तेल से उनकी मालिश करें या फिर गाजर या सेब जैसे चीजें चबाएं।

उंगलियों को लपेटकर रखें – अगर आपको इस बात का डर है कि अनजाने में कभी आप अपने नाखून चबाने न शुरू कर दें तो अपने नाखून को बैंड या बिजली के टेप से लपेट कर रखें। आप हाथ को व्यस्त रखने वाली बुनाई जैसी किसी गतिविधि को भी अपना सकते हैं।

 Also Read :- सवालों के जबाब देकर जीते हजारो रुपये 

यदि आपको यह आर्टिकल पसन्द आया हो तो ज्यादा से ज्यादा शेयर करें.
यह है वो 4 भारतीय खिलाडी जिनका 2019 विश्व कप में खेलना पक्का | Top 4 batsman play in world cup 2019

IPL 2018 की ताज़ा ख़बरें मोबाइल में पाने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.