जानिए अभी भी लोग क्यों इन्कार कर रहे हैं इस 10 रुपए के सिक्का को

0 707

यदि आप मणिपुर में किसी बस से यात्रा करना चाहते हैं या किसी किराने की दुकान में जाते हैं और आपके बटुए में 10 रुपए का सिक्का है, तो हो सकता है कि आपको बाहर का रास्ता दिखा दिया जाए।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से नियमित स्पष्टीकरण के बावजूद मणिपुर के लोग, खासकर छोटे कारोबारी 10 रुपए के सिक्के नहीं लेना चाहते।

हालांकि कुछ लोग जानते हैं कि 10 रुपए का सिक्का चलन में है, लेकिन स्थानीय विक्रेताओं और दुकानदारों में अब भी इसकी वैधता को लेकर संदेह बना हुआ है। सरकारी स्कूल में अध्यापक मांग्लेम्बी ने कहा कि अधिकतर किराना स्टोर 10 रुपए के सिक्के नहीं लेते। उनका कहना है कि निजी बैंक इसे स्वीकार नहीं करते।

यहां एक स्थानीय बाजार में सब्जी विक्रेता पी पिशाक ने कहा कि उन्हें सटीक कारण नहीं पता लेकिन उनके साथियों ने उन्हें 10 रुपए के सिक्के स्वीकार नहीं करने को कहा है।

आरबीआई की इम्फाल शाखा की महाप्रबंधक ने इस गलतफहमी को दूर करते हुए  कहा, ’14 डिजाइन में आने वाला 10 रुपए का सिक्का नकली नहीं है और इसे बिना किसी हिचकिचाहट के स्वीकार किया जा सकता है।’

उन्होंने कहा, ‘नोटबंदी के ढाई साल बाद भी लोग इसकी वैधता को लेकर संशय में हैं।’ यह बताए जाने पर कि मणिपुर में कुछ बैंकों ने 10 रुपए के सिक्के कथित रूप से स्वीकार करने से इनकार कर दिया, तो उन्होंने कहा कि यदि आरबीआई के पास इस संबंध में शिकायत की गई है, तो उचित कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.