ISRO के चैयरमैन ने किया एक बड़ा एलान जानिए इसके बारे में

0 1,114

भारत के मून मिशन चन्द्रयान-2 के लैंडर विक्रम का संपर्क चांद की सतह पर लैंडिंग से पहले टूट गया था। हालांकि स्पेस एजेंसी ISRO के मुताबिक लैंडर विक्रम चांद की सतह पर सलामत था। केवल हार्ड लैंडिंग की वजह से वह सतह पर झुक गया था और इसरो उससे संपर्क करने की लगातार कोशिश कर रहा था। हालांकि अब चांद पर रात शुरू हो गई है और अब संपर्क स्थापित नहीं हो सकता, लेकिन हाल ही में ISRO के चैयरमैन ने एक बड़ा एलान किया है जो कि देशवासियों के लिए काफी खुशी की बात है।

SAIL  बिहार में अभी हो रही है 10वीं पास लोगो के लिए भर्तियाँ – सैलरी भी आपके मुताबिक- आवेदन करें

एमपी नेशनल हेल्थ मिशन ने दी टेक्निकल -पैरामेडिकल पर बम्पर भर्ती – जल्दी करें 

दसवीं पास वालों के लिए CISF कांस्टेबल और ट्रेडमैन में आई बम्पर भर्ती – देखें पूरी जानकारी

दरअसल भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो चीफ के. सिवन ने कहा है कि हम विक्रम लैंडर से संपर्क नहीं कर पा रहे हैं। हालांकि ऑर्बिटर बहुत अच्छे से काम कर रहा है। ऑर्बिटर में 8 यंत्र हैं और प्रत्येक यंत्र अपना काम काफी अच्छे से कर रहे हैं। भविष्य की योजनाओं के बारे में बात करते हुए के सिवन ने कहा कि हमारी अगली प्राथमिकता गगनयान मिशन है।

आपको बता दें कि गगनयान भारत का पहला मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन है और इसमें पहली बार इसरो तीन भारतीयों को अंतरिक्ष में सात दिन की यात्रा के लिए भेजेगा। इसके लिए 2022 की डेडलाइन रखी गई है। इस मिशन पर 10 हजार करोड़ रुपये खर्च होने की उम्मीद है।

loading...

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.