सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

Health Tips: करें हलासन, पाएं रीढ़ और कमर दर्द से हमेशा के लिए राहत! | हलासन के स्वास्थ्य लाभ मराठी में स्वास्थ्य युक्तियाँ

0 9


हलासन मध्यम स्तर का योग है। जिसमें जरूरत के हिसाब से कुछ बदलाव किए जा सकते हैं। हलासन एक ऐसा योगासन है जो न सिर्फ शरीर को बल्कि मांसपेशियों को भी मजबूत बनाता है। यह मस्तिष्क और आंखों जैसे महत्वपूर्ण अंगों को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है।

हलासन के स्वास्थ्य लाभ

मुंबई: आज की भाग दौड़ भरी दुनिया में हमें अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना होगा (स्वास्थ्य) ध्यान नहीं दे रहा। इससे कई स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं। इसलिए अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए व्यायाम करना जरूरी है। शरीर को मजबूत और स्वस्थ रखने के लिए योग (योग) जरूर करना। इसमें हलासन (Halasana) यह सीट महत्वपूर्ण है। इसका शरीर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा। रोजाना व्यायाम करने से शरीर लचीला बनता है। विशेषज्ञों के अनुसार हलासन मध्यम स्तर का योग है (Yogasana) है। जिसमें जरूरत के हिसाब से कुछ बदलाव किए जा सकते हैं। हलासन एक ऐसा योगासन है जो न सिर्फ शरीर को बल्कि मांसपेशियों को भी मजबूत बनाता है। यह मस्तिष्क और आंखों जैसे महत्वपूर्ण अंगों को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है।

हलासन कैसे करें?

बहुत से लोग अपने अच्छे स्वास्थ्य के लिए हलासन करने की आवश्यकता महसूस करते हैं लेकिन यह नहीं जानते कि इसे कैसे किया जाए। इसलिए सबसे पहले हलासन करें, स्वच्छ वातावरण में और समतल जगह पर चटाई या योगा मैट बेड पर करें। अब इस पर पीठ के बल लेट जाएं और अपने दोनों हाथों को चटाई पर रख लें। अब धीरे-धीरे पैरों को एक सीध में ऊपर ले आएं। फिर कमर की मदद से अपने पैरों को सिर के पीछे की ओर ले आएं। इसे अपने सिर के पीछे तब तक पकड़ें जब तक आपके पैर जमीन को न छू लें। अब इस स्थिति में जितना हो सके रुकें। फिर अपनी सामान्य स्थिति में लौट आएं। इस योग को दिन में पांच बार करें।

हलासन के लाभ

हलासन के नियमित अभ्यास से मन को शांति मिलती है। इससे रीढ़ की हड्डी का लचीलापन बढ़ता है और कमर दर्द से राहत मिलती है। हलासन का अभ्यास तनाव और थकान से निपटने में भी मदद करता है। हलासन मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है और वजन घटाने में मदद करता है। यह पाचन तंत्र के अंगों की मालिश करता है और पाचन में सुधार करने में मदद करता है। यह मधुमेह रोगियों के लिए सबसे अच्छी आसन है, क्योंकि यह शर्करा के स्तर को नियंत्रित करती है। यह आसन रीढ़ और कंधों को अच्छा तनाव देता है। यह थायराइड ग्रंथि से संबंधित समस्याओं को दूर करने में भी मदद करता है।

सम्बंधित खबर

अलसी के स्वास्थ्य लाभ: आलसी सुपर फ़ूड खाने से, हर दिन 1 बड़ा चम्मच आलसी खाने से होंगे चमत्कारी लाभ

ध्यान से! कोरोना ने फिर सिर हिलाया, “इन शहरों में बच्चे संक्रमित हो रहे हैं।”

ये हैं गर्भावस्था के पांच सबसे सामान्य लक्षण

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.