सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

30 साल में पहली बार रणजी में हुआ यह कारनामा

233

रणजी ट्रॉफी 2018-19 में सीजन की पहली हैट्रिक देखने को मिली. जम्मू-कश्मीर के पेसर मोहम्मद मुदासिर ने दूसरे दिन राजस्थानी बल्लेबाजों को जयपुर में ध्वस्त कर दिया. उन्होंने हैट्रिक ही नहीं ली, बल्कि चार गेंदों पर लगातार चार विकेट लिए. पहली गेंद पर चेतन विष्ट, फिर तेजिंदर सिंह, राहुल चाहर और तनवीर मशर्त उल हक को आउट किया. रणजी ट्रॉफी के इतिहास में यह दूसरा मौका था, जब किसी खिलाड़ी ने चार गेंदों पर लगातार चार विकेट लिए.

रणजी ट्रॉफी के इतिहास में पहली बार शंकर सैनी ने नवंबर 1988 में दिल्ली में हिमाचल प्रदेश के खिलाफ चार विकेट लिए थे. बता दें कि सवाई मान सिंह स्टेडियम में राजस्थान 3 विकेट खोकर 329 रन बना चुका था. बिश्ट और अशोक मनेरिया क्रीज पर थे, लेकिन 97वें ओवर में मुद्द्सर ने दोनों की साझेदारी को ब्रेक किया. इस तेज गेंदबाज ने लगातार चार विकेट लेकर मैच का रुख पलट दिया. विकेटकीपर-बल्लेबाज बिष्ट ने 159 रन बनाए. राजस्थान की पारी 110 ओवरों में 379 रन बनाकर आउट हुई. इसके जवाब में जम्मू-कश्मीर ने 6 विकेट पर 148 रन बना लिए थे.

रणजी ट्रॉफी : दो दिन में ही हारा बिहार, पहली बार खेल रही उत्तराखंड ने 10 विकेट से दी मात

बता दें कि विकेटकीपर चेतन बिष्ट के 159 रन की मदद से राजस्थान ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के खिलाफ एलीट ग्रुप सी रणजी ट्रॉफी मैच में 379 रन का प्रतिस्पर्धी स्कोर बनाया. इसके बाद राजस्थान के गेंदबाजों ने दूसरे दिन स्टंप तक जम्मू-कश्मीर के 186 रन तक सात विकेट झटक लिए थे. टीम अभी पहली पारी के हिसाब से 193 रन से पिछड़ रही है.

जम्मू-कश्मीर के लिए परवेज रसूल ने 47 रन की पारी खेली जबकि शुभम खजूरिया और पारस शर्मा ने 40-40 रन के समान स्कोर बनाए. राजस्थान से सुबह तीन विकेट पर 300 रन से आगे खेलना शुरू किया था लेकिन 30 वर्षीय तेज गेंदबाज मोहम्दद मुदासीर की हैट्रिक से पूरी टीम 379 रन पर सिमट गई. मुदासिर ने 90 रन देकर पांच विकेट चटकाए. बिष्ट ने 294 रन की पारी में 24 चौके जड़े. वह स्कोर में 13 रन ही जोड़ सके.

हले दिन राजस्थान की अच्छी बल्लेबाजी

राजस्थान ने गुरुवार को जयपुर में खेले जा रहे रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-सी के पहले मुकाबले में शानदार बल्लेबाजी करते हुए जम्मू-कश्मीर के खिलाफ तीन विकेट के नुकसान पर 300 रन बनाए. राजस्थान ने बेहतरीन शुरुआत करते हुए पहले दिन का खेल खत्म होने तक केवल तीन विकेट खोए. सलामी बल्लेबाज चेतन बिष्ट 146 रन और अशोक मनेरिया 45 रन बनाकर नाबाद हैं. मेहमान टीम के लिए उमर नजीर ने दो विकेट लिए.

The post 30 साल में पहली बार रणजी में हुआ यह कारनामा appeared first on GyanHiGyan.

Advertisement

Comments are closed.