13 साल के करियर को प्रवीण ने कहा अलविदा

भारत के लिए लंबे समय तक क्रिकेट खेलने वाले प्रवीण कुमार ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी स्तर से रिटायरमेंट ले लिया है. अपने डेब्यू के 13 साल बाद उन्होंने इसका ऐलान किया है. प्रवीण अब केवल ओनजीसी के लिए खेलेंगे. प्रवीण ने अपनी इच्छा जाहिर करते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि वह बॉलिंग कोच बने.

इंडिन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक उन्होंने कहा, मुझे किसी चीज का पछतावा नहीं है. दिल से खेला. दिल से गेंदबाजी कराई. उत्तर प्रदेश के ढेर सारे गेंदबाज हैं, जो पीछे इंतजार कर रहे हैं. मैं उनका करियर प्रभावित नहीं होने देना चाहता हूं. मैं खेलूंगा, तो एक जगह जाएगी. बाकी के खिलाड़ियों के भविष्य के बारे में भी सोचना चाहिए. मेरा समय (खेल का) पूरा हो चुका है और मैंने उसे स्वीकार लिया है. मैं बेहद खुश हूं और ईश्वर का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझे यह मौका दिया.’

यह पूछे जाने पर कि वह आगे क्या करेंगे? कुमार का जवाब था, ‘मैं गेंदबाजी का कोच बनना चाहता हूं. लोग जानते हैं कि मैं इस चीज का जानकार हूं. मुझे लगता है कि मैं इसमें दिल से काम करूंगा और बाकी नए युवाओं से अपना अनुभव साझा करूंगा.’

साल 2005-06 के घरेलू सत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाले प्रवीण कुमार को नवंबर 2007 में डेब्यू का मौका मिला. उन्होंने देश के लिए 68 वनडे और छह टेस्ट मैच खेले. वनडे में उन्होंने 77 और टेस्ट में 27 विकेट लिए. आखिरी बार प्रवीण मार्च 30, 2012 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेले थे.

The post 13 साल के करियर को प्रवीण ने कहा अलविदा appeared first on GyanHiGyan.

Comments are closed.