सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

हॉकी: भारत ने जापान को हराया, पाक से खिताबी भिड़ंत

232
मस्कट
ओमान के मस्कट में जारी एशियन चैंपियंस ट्रोफी के सेमीफाइनल में भारत ने जापान को 3-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। अब रविवार को फाइनल में उसका मुकाबला चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होगा। अपने खिताब की रक्षा करने उतरी टीम इंडिया ने टूर्नमेंट में अपना अजेय अभियान जारी रखा है। इस सेमीफाइनल मुकाबले में भारत की ओर से गुरजंत (19वें), चिंगलेनसाना (44वें) और दिलप्रीत (55वें मिनट) में 1-1 गोल दागे। जवाब में जापान की टीम 2 ही गोल दाग सकी। जापान के लिए हिरोताका वाकुरी (22वें) और हिरोताका जेनदाना (56वें मिनट) में 1-1 गोल दागा।

टीम इंडिया को इस मैच में 4 पेनल्टी कॉर्नर हासिल हुए थे, लेकिन वह सिर्फ 1 ही मौके को गोल में भुना पाई, जबकि जापान को मिले 3 पेनल्टी कॉर्नर में से उसने दो मौकों पर गोल किया। भारत अपने पहले पेनल्टी कॉर्नर पर कोई गोल नहीं दाग सका था। मैच की शुरुआत में ही भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला था, लेकिन वह उस पर गोल नहीं दाग पाया। मैच के पहले क्वॉर्टर में दोनों टीमें एक-दूसरे पर गोल का मौका ढूंढती रहीं, लेकिन किसी को भी सफलता नहीं मिल सकी।

खेल के दूसरे क्वॉर्टर में टीम इंडिया ने 19वें मिनट में शानदार फील्ड गोल कर अपना खाता खोला और जापान पर 1 गोल की बढ़त ले ली। भारत के लिए यह गोल गुरजंत ने किया। हालांकि टीम इंडिया अपनी इस बढ़त को ज्यादा देर कायम नहीं रख पाई और 3 मिनट बाद ही 22वें मिनट में जापान को पेनल्टी कॉर्न मिला, जिस पर हिरोताका वाकुरी ने शानदार गोल कर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया। खेल के हाफ टाइम तक दोनों टीमें बराबरी पर रहीं।

हाफ टाइम के बाद दोनों टीमों ने एक बार फिर एक-दूसरे पर बढ़त बनाने के लिए संघर्ष शुरू किया। इस बार मैच तीसरे क्वॉर्टर का खेल खत्म होने के करीब था कि एक मिनट पहले ही भारत को मैच का चौथा पेनल्टी कॉर्नर मिल गया। इससे पहले इस मैच में 3-3 पेनल्टी कॉर्नर के मौके गंवा चुकी भारतीय टीम ने कोई चूक नहीं की। वरुण के ड्रेग फ्लिक को चिंगलेनसाना ने डिफ्लेक्ट कर गोल पोस्ट की राह दिखा दी और भारत को जापान पर 2-1 की बढ़त मिल गई।

मैच के चौथे और अंतिम क्वॉर्टर में जापान बराबरी का लगातार मौका तलाश रहा था लेकिन टीम इंडिया इस बार ऐसा नहीं होने दिया। खेल अपने अंतिम 5 मिनट में पहुंचा चुका था कि 55वें मिनट में दिलप्रीत ने एक मौका ताड़कर शानदार फील्ड गोल दाग दिया। भारत का यह मैच में तीसरा गोल था और जापानी टीम अब 2 (3-1) गोल के अंतर से पिछड़ चुकी थी।

हालांकि अगले ही मिनट में उसे पेनल्टी कॉर्नर (56वें) मिला। इस बार हिरोताका जेनदाना ने अपनी टीम को निराश नहीं किया और भारत पर दूसरा 2 गोल दागकर गोल के अंतर को कम कर दिया। लेकिन बाद के 4 मिनटों में भारतीय टीम ने जापानी टीम को कोई मौका नहीं दिया और इस तरह जापान को 3-2 से हराकर फाइनल में एंट्री कर ली।

Advertisement

Comments are closed.