शनिवार को ही क्यों चढ़ाते हैं शनि देव पर सरसों का तेल पूरा सच जानें

शनिदेव को न्याय का गृह माना जाता है और ऐसा माना गया है शनिवार को नियमित रूप से शनि देव को तेल चढ़ाने से शनि ग्रहो से बचा जा सकता है सभी ग्रहो के लोगो को तेल का दान करना चाहिए तेल का दान करने से शनि की कृपा बनी रहती है लोगो का मानना है की शनि को तेल अर्पित करना हमारी प्राचीन परम्परा है शनि को तेल अर्पित करते समय कुछ बातों का ध्यान रखने से शनि दोषो से बचा जा सकता है।

शनिवार को सडकों पर बाल्टी या किसी बर्तन मे शनि की प्रतिमा लिए कई लोग घूमते रहते है जिन्हे हम तेल चढ़ाते है पर जानकारी न होने की वजह से हमें उस दान का पूरा फायदा नहीं मिल पाता है। शनिदेव को हमेशा लोहे के पात्र से ही तेल अर्पण करें शनि को तेल चढ़ाने से पहले तेल में अपना चेहरा देख कर तेल दान करना चाहिए तेल दान करने के साथ ही इच्छा अनुसार धन का भी दान देना चाहिए ऐसा करने से आपके बिगड़े काम फिर से बन जाते है घर में सुख-समृद्धि आती है।

शनि देव को चढ़ाने के लिए शुद्ध तेल का ही उपयोग करें सरसों का तेल इस्तमाल करना ज्यादा अच्छा रहेगा तेल चढ़ाते वक़्त हमारी नज़र शनि देव के पैरो में ही होना चाहिए। शास्त्रो के अनुसार हमारे शरीर के विभिन्न अंगो में ग्रहो का वास होता है त्वचा, दांत, कान, हड्डियां और घुटनों कारक ग्रह हैं शनि के दोषो से बचने के लिए हर शनिवार मालिश करनी चाहिए

Comments are closed.