सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

रोज दही खाने वाले लोग जरूर जान लें, नहीं तो घर में आ जाएंगी नई बीमारियां

7
People who eat curd daily must know otherwise new diseases will come in the house

सुबह में नाश्ते के समय दही शामिल करने से पूरे दिन शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है। इसमें मौजूद प्रोटीन की मात्रा शुगर को कंट्रोल में रखती है। और लोलुपों को राहत मिलती है। इसके अलावा, दही प्रोबायोटिक्स पाचन में सुधार करने में मदद करते हैं। साथ ही यह सूजन और कब्ज की समस्या में भी फायदेमंद होता है। लेकिन दही खाने वाले लोगों को कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। नहीं तो इसके बुरे परिणाम हो सकते हैं।

दही खाते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए

अधिकतर भारतीय भोजन करते समय दही का सेवन करते हैं। लेकिन दही का सेवन करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

रात के समय दही नहीं खाना चाहिए

रात के समय कभी भी दही का सेवन नहीं करना चाहिए। रात को दही खाने से शरीर में उनींदापन बढ़ जाता है। यह बलगम बनने के कारण होता है। आयुर्वेद के अनुसार दही के मीठे और तीखे गुण लार पैदा करने का काम करते हैं। इससे सांस संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। यह बलगम नाक के रास्ते में जमा होकर गाढ़ा हो जाता है, जिससे नाक में सूजन जैसी समस्या हो जाती है।

दही का कच्चा सेवन न करें

दही हमेशा चीनी, शहद या गुड़ के साथ या थोड़ा नमक, काली मिर्च, जीरा पाउडर के साथ लेना चाहिए। इससे दही की प्रभावशीलता में सुधार होता है। और लार बनाने का काम करता है।

दही किस मौसम में खानी चाहिए

कुछ लोग रोजाना खाने में दही का सेवन करते हैं। लेकिन साल के कुछ महीने ऐसे होते हैं जब आपको दही नहीं खाना चाहिए। क्योंकि इस दौरान शरीर की प्रकृति बदल जाती है। इसलिए इस दौरान दही खाने से शरीर की सेहत और पाचन क्रिया को नुकसान पहुंचता है। भारतीय आयुर्वेद के अनुसार बसंत, पतझड़ और सर्दी में दही खाने से बचना चाहिए। क्‍योंकि इस दौरान लार का उत्‍पादन ज्‍यादा होता है।

Advertisement

Comments are closed.