सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

रीढ़ की हड्डी में दर्द हो सकती है ये गंभीर बीमारी

34
हेल्थ डेस्क: साइंस की बात करें तो आज के वर्तमान समय में बहुत से लोग ऐसे हैं जिनके रीढ़ की हड्डी में दर्द की समस्या बनी रहती हैं। सही जानकारी नहीं होने के कारण लोग इस दर्द को नजरअंदाज कर देते हैं जो धीरे धीरे खतरनाक बीमारी का रूप ले लेता हैं। आज जानने की कोशिश करेंगे उस गंभीर बीमारी के बारे में जिस बीमारी का संकेत रीढ़ की हड्डी में होने वाला दर्द हैं। इस बीमारी को बिल्कुल भी नजरअंदाज ना करें। तो आइये जानते है  विस्तार से की रीढ़ की हड्डी में दर्द हो सकती है ये गंभीर बीमारी। 
एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस, अगर किसी व्यक्ति के रीढ़ में दर्द की समस्या होती हैं या रीढ़ की हड्डी सख़्त हो जाता हैं तो ये संकेत एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस बीमारी के होते हैं। इस बीमारी के कारण रीढ़ की हड्डियों में विटामिन डी के साथ साथ कैल्शियम की भी कमी हो जाती हैं। जिसके कारण हड्डियों में दर्द की समस्या बनी रहती हैं। साथ ही साथ हड्डियों का विकास रूक जाता हैं। जिससे इंसान को कई तरह के परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। इतना हीं नहीं एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस की समस्या होने पर रीढ़ की हड्डी टूटने का खतरा बना रहता हैं। इस लिए इस समस्या को नजरअंदाज ना करें। 
 
एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस होने के कारण,  इंसान के शरीर में एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस की समस्या हड्डियों में कैल्शियन और विटामिन डी की कमी के कारण उत्पन होता हैं। इतना ही नहीं अगर कोई व्यक्ति आवश्यकता से अधिक भारी सामान उठाता हैं तब रीढ़ की हड्डियों में खिचाव आता हैं। जिसके कारण हड्डियों में सूजन की समस्या उत्पन हो जाती हैं और यह सूजन धीरे धीरे एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस बीमारी का रूप लेता हैं। इस बीमारी के बारे में सभी लोगों को सही जानकारी होनी चाहिए ताकि लोग अपना ख्याल रख सकें। 
 
एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस के उपचार, अगर किसी व्यक्ति को रीढ़ की हड्डी में दर्द होता हैं और वो एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस की बीमारी से ग्रसित हो जाता हैं तो उसे सबसे पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। साथ ही साथ इस समस्या से बचने के लिए कैल्शियम और विटामिन डी युक्त आहार का सेवन करना चाहिए। इस बीमारी से बचने के लिए हल्के गुनगुने पानी से स्नान कर सकते हैं। साथ हीं साथ मसाज थेरेपी ले सकते हैं। इससे आपको आराम मिलेगा। एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस की बीमारी होने पर आप जंक फ़ूड, धूम्रपान, शराब आदि का सेवन बिल्कुल भी ना करें। 

Advertisement

Comments are closed.