सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

ये है आपके गंजापन होने का कारण, जानिए इसका बचाव

82

गंजेपन के पीछे कई कारण हो सकते हैं। आजकल तो ये समस्या हर तरफ देखी जा सकती है। बालों के लिए नए-नए फैशन भी मोजूद हैं जिनके कारण गंजेपन की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। पुरुषों के मुकाबले महिलाएं गंजेपन का शिकार कम होती हैं। आईए जानते हैं गंजेपन के क्या-क्या कारण हैं।

खान-पान में गड़बड़ी होना

खान-पान में गड़बड़ी होना आपके गंजेपन का सबसे बड़ा कारण है। अगर आपके आहार में आयरन और प्रोटीन की कमी है तो बालों का गिरना तो लाज़मी है। अगर आपको अपने गंजेपन और बालों के गिरने की समस्या से बचना है तो अपने आहार में आयरन और प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करें। इसके लिए हरी पत्तेदार सब्जियां, अंडे आदि का सेवन करें।

उम्र के कारण गंजापन

उम्र बढ़ने के साथ-साथ हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है जिस कारण होर्मोंस प्रभावित होते हैं। ऐसा होने पर हमारे बाल गिरने लगते हैं। बालों की अच्छी तरह देखभाल करने से बढ़ती उम्र में भी बालों का गिरना कम किया जा सकता है।

हेयरस्टाइल के कारण

हेयरस्टाइल भी बालों के गिरने की समस्या का कारण बनता है। ये तब होता है जब आप बहुत ज्यादा कसकर बाल बांधते हैं तो इससे आपके बालों की जड़ों में रक्त का संचार ठीक तरीके से नहीं हो पाता और इस कारण आपके बाल गिरने लगते हैं। ऐसा हेयरस्टाइल रखें जिससे आपके बालों में ठीक तरीके से रक्त संचार हो सके।

दवाओं का इस्तेमाल

कम उम्र में खासतौर से से महिलाओं द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली गर्भनिरोधक दवाओं के कारण गंजेपन की समस्या हो सकती है। गर्भनिरोधक दवाएं आपके आपके शरीर में हार्मोनल स्तर को प्रभावित करती है। इसके अलावा कैंसर में इस्तेमाल की जाने वाली कीमोथेरेपी, सिरदर्द और बुखार में इस्तेमाल की जाने वाली दवाएं भी गंजेपन का कारण बनती हैं।

अनुवांशिक कारण

अनुवांशिक कारण का मतलब ये है कि अगर आपके परिवार में दादा या चाचा गंजेपन का शिकार थे तो आपको भी गंजापन हो सकता है, इसे अनुवांशिक कारण कहा जाता है।

Advertisement

Comments are closed.