युवा भी होते हैं साइलेंट हार्ट अटैक के शिकार, जानें हार्ट अटैक के ये संकेत

Young people are also victims of silent heart attack, know these signs of heart attack

इन दिनों आम लोग हों या सेलेब्रिटीज…कई लोगों की अचानक मौत हो गई है। कारण हार्ट अटैक बताया गया। चिंताजनक बात यह है कि ऐसे लोग जिनमें हाल तक हार्ट अटैक के कोई लक्षण नहीं थे, वे भी इसके शिकार हो रहे हैं। साइलेंट हार्ट अटैक कहलाने वाली इस बीमारी की चपेट में युवा भी आ रहे हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, आजकल हार्ट अटैक के ज्यादातर मामले साइलेंट हार्ट अटैक के होते हैं। बिना हृदय रोग के भी साइलेंट हार्ट अटैक का खतरा रहता है। तो चलिए आखिर में जानते हैं क्या है ये साइलेंट हार्ट अटैक।

साइलेंट हार्ट अटैक क्या है?

साइलेंट हार्ट अटैक को मेडिकल भाषा में साइलेंट मायोकार्डियल इन्फ्रक्शन कहा जाता है। इसमें हार्ट अटैक जैसा सीने में दर्द नहीं होता है और अटैक किसी का ध्यान नहीं जाता है। हालांकि इसके कुछ लक्षण जरूर महसूस होते हैं।

साइलेंट हार्ट अटैक में दर्द क्यों नहीं होता?

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, अक्सर तंत्रिका या रीढ़ की हड्डी में कोई समस्या होती है जो दर्द की अनुभूति मस्तिष्क तक पहुंचाती है या व्यक्ति किसी मनोवैज्ञानिक कारण से दर्द को पहचान नहीं पाता है। ऑटोनोमिक न्यूरोपैथी बुजुर्ग या मधुमेह रोगियों में दर्द का कारण नहीं माना जाता है।

साइलेंट हार्ट अटैक के 5 लक्षण

  1. गैस्ट्रिक प्रॉब्लम या पेट की प्रॉब्लम
  2. बिना किसी कारण के कमजोरी और आलस्य
  3. कुछ काम करने के बाद थकान
  4. ठंडे पसीने में अचानक फूट पड़ना
  5. सांस की अचानक लगातार कमी

साइलेंट हार्ट अटैक के कारण

  • अधिक तैलीय, वसायुक्त और प्रसंस्कृत भोजन करना
  • शारीरिक गतिविधि का अभाव
  • शराब-सिगरेट की लत
  • मधुमेह और मोटापा
  • स्ट्रेस और टेंशन लेने के कारण

साइलेंट हार्ट अटैक से खुद को कैसे बचाएं

  1. खाने में सलाद और सब्जियां ज्यादा लें
  2. रोजाना व्यायाम करें, योग करें और टहलें।
  3. सिगरेट-शराब से परहेज करें
  4. खुश रहो और एक अच्छा मूड रखो।
  5. तनाव और तनाव से बचने की कोशिश करें
  6. नियमित जांच करवाएं

Comments are closed.