मौसमी प्रदूषण, धूल और उमस से आपको भी हो सकती है एलर्जी, आजमाएं ये घरेलू उपाय

आजकल धूल और प्रदूषण की वजह से एलर्जी की समस्या काफी बढ़ गई है। खासकर दिल्ली जैसी जगहों पर रहने वाले लोगों के लिए यह एक बड़ी समस्या है। नाक बहना, खुजली, लाल आंखें, सांस लेने में दिक्कत और सीने में जकड़न एलर्जी के लक्षण हैं। समय पर इलाज न कराने पर यह और भी गंभीर हो सकता है। तो इन लक्षणों को समझकर आप यहां दिए गए घरेलू नुस्खों को आजमा सकते हैं…

धूल और प्रदूषण से बचने के घरेलू उपाय-

1. शहद का प्रयोग करें-
शहद एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एंटी-सेप्टिक गुणों का खजाना है। जो एलर्जी की समस्या से निपटने में काफी कारगर है। सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से बहुत फायदा होगा या गर्म पानी में शहद मिलाकर पिएं।

2. सेब का सिरका-
सेब का सिरका वजन घटाने के अलावा एलर्जी के लिए भी काफी कारगर इलाज है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। यह धूल और मिट्टी के कीटाणुओं को खत्म कर एलर्जी के प्रभाव को कम करने में मदद करता है। इसके लिए एक गिलास ताजे उबले पानी में दो चम्मच सेब का सिरका और स्वादानुसार शहद मिलाकर सेवन करें। दिन में 1 से 2 बार खा सकते हैं।

3. हल्दी के प्रयोग-
हल्दी में करक्यूमिन नामक पदार्थ होता है। इसके अलावा इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होते हैं, जो एलर्जी के प्रभाव को कम करने का काम करते हैं, ताकि ये गंभीर संक्रमण में न बदल जाएं। इसलिए इसे गर्म दूध में मिलाकर पिएं।

4. ग्रीन टी का सेवन करें-
ग्रीन टी एंटी-माइक्रोबियल गुणों का खजाना है, जो धूल-मिट्टी से होने वाली एलर्जी को दूर करने में काफी मददगार है। इसलिए एलर्जी से राहत पाने के लिए 1 कप गर्म पानी में 1 चम्मच शहद और 1 चम्मच नींबू का रस मिलाएं। अब इस मिश्रण में 1 बैग ग्रीन टी मिलाएं और इसका सेवन करें। आप इसे दिन में दो बार पी सकते हैं।

Comments are closed.