भारत बनाम वेस्ट इंडीज, बेस्ट बोलिंग प्रदर्शन

भारत बनाम वेस्ट इंडीज, बेस्ट बोलिंग प्रदर्शन

Web Title:india vs west indies five best bowling performances

(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

1/6

भारत बनाम वेस्ट इंडीज, बेस्ट बोलिंग प्रदर्शन

रविवार से भारत और वेस्ट इंडीज के बीच पांच वनडे मैचों की सीरीज की शुरुआत हो रही है। इन दोनों टीमों के बीच कई यादगार मुकाबले खेले गए हैं। इससे पहले एक नजर डालते हैं दोनों टीमों के बीच हुए मुकाबलों में बेस्ट गेंदबाजी प्रदर्शन

तस्वीरें- टाइम्स ऑफ इंडिया डॉट कॉम

2/6

संजीव शर्मा

 संजीव शर्मा

26 रन देकर पांच विकेट, शारजाह (1988)

मध्यम तेज गति के गेंदबाज संजीव शर्मा ने भारत के लिए 23 वनडे खेले और उसमें 22 विकेट लिए। इसमें से पांच विकेट उन्होंने वेस्ट इंडीज के खिलाफ 16 अक्टूबर 1988 को चैंपियंस ट्रोफी के मुकाबले में शानदार प्रदर्शन किया। के.श्रीकांत के 112 और दिलीप वेंगसरकर के 76 रनों की बदौलत भारत ने 50 ओवरों में 238 रन बनाए। शर्मा ने कपिल देव को पीछे छोड़ते हुए 7.3 ओवरों में ये विकेट लिए। लेग स्पिनर नरेंद्र हिरवानी ने 50 रन देकर चार विकेट लिए और भारत ने मैच 23 रनों से जीता।

3/6

निखिल चोपड़ा

निखिल चोपड़ा

21 रन देकर पांच विकेट, टोरंटो (1999)

वेस्ट इंडीज को नया-नया युवा आक्रामक बल्लेबाज रिकार्डो पावेल मिला था। उन्होंने 73 गेंदों पर 76 रनों की पारी खेली। अपनी पारी में उन्होंने 7 छक्के और तीन चौके लगाए। लेकिन उनकी यह पारी भी वेस्ट इंडीज को जीत नहीं दिला पाई। ऑफ स्पिनर निखिल चोपड़ा ने पांच विकेटों ने विंडीज को 34.2 ओवरों में 137 रनों पर सिमट गई। चोपड़ा ने महज 6.2 ओवरों में 21 रन देकर पांच कैरेबियाई बल्लेबाजों को पविलियन की राह दिखाई।

4/6

विवियन रिचर्ड्स

विवियन रिचर्ड्स

41 रन देकर छह विकेट, दिल्ली (1989)

विवियन रिचर्ड्स अपनी धमाकेदार बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं लेकिन फिरोजशाह कोटला मैदान पर 23 अक्टूबर 1989 को उन्होंने अपनी गेंद से जादू दिखाया। रिचर्ड्स ने पहले बल्ले से 57 रनों की पारी खेली। उनकी बोलिंग के दम पर भारतीय टीम 197 रनों का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई। भारतीय टीम आसानी से लक्ष्य की ओर बढ़ती नजर आ रही थी लेकिन रिचर्ड्स की इरादा कुछ और ही था। वेस्ट इंडीज की टीम में कर्टली ऐम्ब्रोस, विनस्टन बैंजमिन, कॉर्टनी वॉल्श और मैलकम मार्शल जैसे गेंदबाज थे। रिचर्ड्स ने 9.4 ओवर में 41 रन देकर छह विकेट लिए। मेहमान टीम ने यह मैच 20 रन से जीता।

5/6

पैट्रिक पीटरसन

पैट्रिक पीटरसन

29 रन देकर छह विकेट, 1987

पैट्रिक पीटरसन का दौड़कर क्रीज पर आना ही बल्लेबाजों में खौफ भर देता था। उनका गेंदबाजी ऐक्शन जबर्दस्त था। पीटरसन ने 8 दिसंबर 1987 में नागपुर में भारत से जीत छीन ली थी। भारत के सामने 204 रनों का लक्ष्य था लेकिन पूरी भारतीय टीम 44.4 ओवरों में 193 पर आउट हो गई। पीटरसन ने 9.4 ओवरों में 29 रन देकर छह विकेट लिए। वेस्ट इंडीज ने 10 रनों से मैच जीत लिया।

6/6

अनिल कुंबले

अनिल कुंबले

12/6, 1993, शारजाह
यह लंबे समय तक भारत के लिए एकदिवसीय क्रिकेट का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन रहा। कोलकाता के ईडन गार्डंस मैदान पर 27 नवंबर 1993 को वेस्ट इंडीज के सामने 226 रनों का लक्ष्य था। विंडीज के टॉप चार बल्लेबाज मनोज प्रभाकर (फिल सिमंस को आउट किया), सचिन तेंडुलकर (लारा का विकेट लिया), कपिल देव (रिची रिचर्ड्सन और कीथ आर्थटन का विकेट लिया)। इसके बाद अनिल कुंबले शो शुरू हो गया। उन्होंने वेस्ट इंडीज के बाकी बल्लेबाजों को विकेट पर टिकने ही नहीं दिया। 6.1 ओवर में 12 रन देकर उन्होंने 6 विकेट लिए। भारत ने मैच 102 रनों से जीता।

FROM WEB

Earn profits from premium commercial properties in India.

Ad: PROPERTY SHARE

15 Celebs Who Are Jerks In Real Life

Ad: CrazyFreelancer

Helpless mother is struggling to save her son from cancer!

Ad: Milaap

FROM NAVBHARAT TIMES

Comments are closed.