सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

पैर पर काला धागा बांधने के पीछे छिपा है ये गहरा राज

151

हिंदू धर्म के अनुसार काले रंग को हमेशा ही अपशगुन माना जाता है क्योंकि किसी भी धर्म कर्म के काम में काले रंग का प्रयोग नहीं होता है। लेकिन यदि वास्तु शास्त्र के अनुसार देखा जाए तो काला रंग बहुत ही सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करने वाला वह बहुत से बुरी शक्तियों को दूर रखने वाला भी बताया गया है। हमें हमारे बड़े बुजुर्ग काला धागा पहनने की सलाह देते है, क्यूंकि ऐसा माना गया है काला धागा हमें बुरी नज़र से बचाता है और भी कई अन्य बातें है.

काला धागा बांधने के पीछे वैज्ञानिक कारण भी हैं। हमारा शरीर पंच तत्वों से मिलकर बना है। ये पंच तत्व हैं- पृथ्वी, वायु, अग्नि, जल और आकाश। इनसे मिलने वाली ऊर्जा हमारे शरीर का संचालन करती हैं। इनसे मिलने वाली ऊर्जा से ही हम सभी सुविधाओं को प्राप्त करते हैं। जब किसी इंसान की बुरी नजर हमें लगती है तब इन पंच तत्वों से मिलने वाली संबंधित सकारात्मक ऊर्जा हम तक नहीं पहुंच पाती है। इसीलिए गले में काला धागा बांधा जाता है। दरअसल कुछ लोग काले धागे में भगवान के लॉकेट भी धारण करते हैं जिसे बेहद शुभ माना जाता है।

पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक काला धागा नजर से तो बचाता ही है साथ ही काला धागा मालामाल भी बना सकता है। इससे जुड़ा एक उपाय आपको मालामाल बना सकता है। आप बाजार से रेशमी या सूती धागा ले आयें और किसी भी मंगलवार या शनिवार की शाम को ये काला धागा हनुमानजी के मंदिर ले जाएं। इस धागे में नौ छोटी-छोटी गाँठ लगा लें और हनुमानजी के पैरों का सिंदूर लगा लें। अब इस धागे को घर के मुख्य दरवाजे पर बांध दें या तिजोरी पर बांध दें। सिर्फ एक छोटे से उपाय से आप जल्दी ही मालामाल बन जायेंगे। ऐसा करने से आपके घर में धन-धान्य की अपार वृद्धि होगी।

शनिवार को जब किसी को बुरी नजर से बचाने के लिए काला धागा धारण करे तो वहां ऊं शनये नम: का जाप करते हुए नौ गांठ बांध दे। काला धागा हाथ या गले में बांधने से नजर लगाने वाले इंसान की दृष्टि को भंग कर देता है। जिससे नजर का असर आपके उपर नहीं होता है। जो लोग गले या हाथ में काला धागा पहनते हैं उनके अंदर सकारात्मक उर्जा का प्रभाव होता है। वैज्ञानिक तौर पर देखा गया है कि काला रंग उष्मा का अवशोषक होता है। इसलिए काला धागा बुरी नजर व हवाओं को अवशोषित कर देता है। जिसका असर हमारे शरीर को नहीं होता है। यह एक तरह का सुरक्षा कवच बना देता है।

शनि दोष से बचने के लिए भी इंसान को काले धागे को पहनना चाहिए। इससे शनि का प्रकोप इंसान पर नहीं पड़ता है। ऐसा कहा जाता है कि की बार कई चीजें आपको ठीक नहीं कर पाती हैं वहां एक छोटा सा काला धागा आपको कई सारी परेशानियों से बचा सकता है। काले धागे को धारण करने से इंसान के शरीर की बहुत सी बीमारियों से भी निजाद पायी जा सकता है। जैसे यदि आपके पेट में दर्द रहता हो तो आप अपने पैर के अंगूठे में काले धागे को बांध सकते हैं, जिससे आप अपने पेट दर्द से निजात पा सकते हैं।

नाभि खिसकना या धरण जाना आयुर्वेद और प्राकृतिक उपचार पद्धति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। नाभि को मानव शरीर का केंद्र माना जाता है। नाभि स्थान से शरीर की बहत्तर हजार नाड़ियों जुड़ी होती है। यदि नाभि अपने स्थान से खिसक जाती है तो शरीर में कई प्रकार की समस्या पैदा हो सकती है। कहा जाता है कि नाभि खिसकने से रोकने के लिए पैर के अंगूठे में काला धागा बांधने से नाभि बार बार नहीं खिसकती है। इस उपाय से आपकी नाभि भविष्य में नहीं खिसकेगी।

Advertisement

Comments are closed.