सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

पीली हल्दी की जगह आजमाएं काली हल्दी, होंगे कई स्वास्थ्य लाभ

22

ऐसा इसलिए क्योंकि हम सभी जानते हैं कि हल्दी हमारी सेहत के लिए कितनी फायदेमंद होती है। अब तक आप केवल पीली हल्दी के बारे में ही जानते होंगे लेकिन क्या आप जानते हैं कि काली हल्दी भी होती है। काली हल्दी भी बहुत फायदेमंद होती है। जानिए काली हल्दी क्यों है फायदेमंद..?

काली हल्दी में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं। इसका उपयोग कैंसर के इलाज में भी किया जाता है। काली हल्दी के पौधे को Curcuma Caesia के नाम से जाना जाता है। इसका उपयोग केवल खाना पकाने में ही नहीं बल्कि औषधि के रूप में भी किया जाता है।इसमें बहुत सारे एंटीबायोटिक गुण भी होते हैं। वहीं इस हल्दी का उपयोग त्वचा संबंधी बीमारियों जैसे खुजली, मोच और चोट को ठीक करने के लिए भी किया जाता है। आप इसे दूध में मिलाकर भी लगा सकते हैं।

लीवर

यह आपके लीवर को डिटॉक्स करने का काम करता है। यह आपके लीवर से जुड़ी कई बीमारियों से भी बचाता है। इसके सेवन से अल्सर की समस्या भी दूर हो जाती है।

सूजन

हल्दी का उपयोग शरीर में सूजन को कम करने के लिए भी किया जाता है क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो अणुओं को अवरुद्ध करके सूजन को कम करते हैं।

अनियमित पीरियड्स

अगर आप अनियमित पीरियड्स से पीड़ित हैं, तो आप दूध में काली हल्दी मिलाकर कुछ दिनों तक पी सकते हैं। इससे आपका उत्पीड़न समाप्त हो जाएगा।

कैंसर

चीनी दवा में काली हल्दी का इस्तेमाल कैंसर के इलाज के लिए किया जाता है। शोधकर्ताओं के अनुसार इसके नियमित सेवन से कोलन कैंसर का खतरा भी कम होता है।

पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस

यह एक ऐसी बीमारी है जो जोड़ों के दर्द और अंगों में अकड़न का कारण बनती है, जो आपकी हड्डियों के आर्टिकुलर कार्टिलेज को नुकसान पहुंचाती है। हल्दी में तब इबुप्रोफेन होता है, जो इसे रोकने में कारगर है।

Advertisement

Comments are closed.