सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

पाकिस्तान: प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ आज रात करेंगे कैबिनेट पर फैसला, सोमवार को कई मंत्री शपथ ले सकते हैं | . पाकिस्तान के नए प्रधान मंत्री शहबाज शरीफ आज संघीय कैबिनेट गठन के लिए मंत्री के विभागों का फैसला करेंगे

0 4


Related Posts

ब्रिटेन में छिपा असमिया डॉक्टर, भारत में आतंकवाद फैलाने का आरोप, भारत…

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ अभी तक सरकार चलाने के लिए कैबिनेट नहीं बना पाए हैं। अब खबर आई है कि वह आज रात तक मंत्री पद ग्रहण कर विभाग तय कर सकते हैं।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ

पाकिस्तान में (पाकिस्तान) केंद्रीय मंत्रिमंडल का गठन एक दिन के लिए टाल दिया गया है। स्थानीय मीडिया का कहना है कि पीएमएल-एन नेता और नए प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ (शहबाज शरीफ) मंत्री आज रात तक पोर्टफोलियो पर फैसला करेंगे। पीएमएल-एन के करीबी सूत्रों ने यह जानकारी दी है। प्रधानमंत्री ने पीएमएल-एन के मंत्रियों का एक पोर्टफोलियो पूर्व प्रधानमंत्री और पार्टी प्रमुख नवाज शरीफ को सौंपा है। सूत्रों के मुताबिक, नवाज शरीफ ने संघीय कैबिनेट के पहले चरण को मंजूरी दे दी है। पीपीपी समेत गठबंधन के अन्य सदस्यों के मंत्री पद के लिए पोर्टफोलियो तय करने को लेकर अभी भी चर्चा जारी है।

ऐसे में माना जा रहा है कि सोमवार को केंद्रीय कैबिनेट में शामिल मंत्रियों को शपथ दिलाई जा सकती है। इससे पहले, यह बताया गया था कि पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने शनिवार को संकेत दिया था कि उनकी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ के मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होगी। जो सत्ता संभालने के पांच दिन बाद भी अपनी कोर टीम को फाइनल करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। शाहबाज ने 11 अप्रैल को प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी।

सरकार चलाने के लिए कोई मंत्री नहीं है

शाहबाज शरीफ सभी गठबंधन सहयोगियों को कैबिनेट बनाने के लिए राजी नहीं कर सके। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सह-अध्यक्ष जरदारी ने संकेत दिया कि उनकी पार्टी अन्य गठबंधन सहयोगियों को शामिल करना चाहती है। “मुझे नहीं लगता कि हम कोई मंत्रालय ले रहे हैं,” उन्होंने नेशनल असेंबली के बाहर संवाददाताओं से कहा। हम अपने दोस्तों (गठबंधन के सहयोगियों) को मौका देना चाहते हैं।

जरदारी राष्ट्रपति पद के लिए जोर लगा रहे हैं

ऐसी भी खबरें हैं कि अगर मौजूदा राष्ट्रपति आरिफ अल्वी इस्तीफा देते हैं या पद से हटा दिए जाते हैं तो जरदारी राष्ट्रपति पद के लिए जोर दे रहे हैं। बता दें कि मार्च में विपक्ष ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ नेशनल असेंबली में अविश्वास प्रस्ताव लाया था। 10 अप्रैल को मतदान हुआ और इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ सरकार को सत्ता से बेदखल कर दिया गया।

उन्होंने कहा है कि उनकी सरकार को उखाड़ फेंकने के पीछे एक विदेशी साजिश है। उन्होंने चुनाव स्थगित करने की भी कोशिश की और नए सिरे से चुनाव कराने की मांग की। लेकिन अंत में वे अविश्वास प्रस्ताव हार गए। पीएम पद से हटाए जाने के बाद शाहबाज शरीफ को प्रधानमंत्री बनाया गया है.

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.