सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

पांच ऐसे खिलाड़ी जिन्होंने कभी अपने देश के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट नहीं खेला है, नंबर 4 तो हैरान कर देगा

443

ये तो सभी जानते है कि क्रिकेट एक रोमांचक खेल है पर क्रिकेट और रोमांचक उसके कुछ रिकॉर्ड और कुछ अतरंगी चीज़े बनाते है। तो आज हम बात कुछ ऐसे ही अतरंगी खिलाड़यों की जिन्होंने अपने देश के खिलाफ ही खेलते हुआ कमाल किया है तो इस लिस्ट मे सबसे पहले नाम न्यूज़ीलैंड के खिलाडी का आता है

1. लुक रोंची

न्यूज़ीलैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज रोंची। रोंची एक ऐसे खिलाडी है जिन्होंने जन्म तो ऑस्ट्रलिया में लिया था। पर कभी भी ऑस्ट्रलिया के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट नही खेले है। यह न्यूज़ीलैंड के बेहतरीन कीपरो में से एक है।

2.हाशिम अमला

साउथ अफ्रीका के खतरनाक बल्लेबाजो में से एक हाशिम अमला। इनका जन्म तो इंडिया मे हुआ था पर यह कभी भी इंडिया की टीम से इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते नज़र नही आए।

3.इमाद वसीम

पाकिस्तान के उभरते हुए शानदार आल राउंडर में से एक इमाद वसीम भी इस लिस्ट में आते है उनका जन्म इंग्लैंड मे हुआ था पर यहाँ इंग्लैंड के लिए क्रिकेट न खेलते हुए पाकिस्तान के लिए खेलते है।

4. केविन पीटरसन

नंबर 4 पर आता है सबको हैरान करने वाला नाम केविन पीटरसन। यहाँ इंग्लैंड के महान बल्लेबाजो में गिने जाते है इनके नाम कई वर्ल्ड रिकॉर्ड भी है जिन्हें तोड़ना मुश्किल है। इनका जन्म साउथ अफ्रीका में हुआ था पर यह क्रिकेट इंग्लैंड की नेशनल टीम के लिए खेलते थे। इनका इंग्लैंड बोर्ड से विबाद होने के कारण इंग्लैंड टीम से बाहर होना पड़ा था। जिसके बाद इन्होंने ने सन्यास की घोषणा कर दी थी जिसके बाद खबर आयी थी की यह अब साउथ अफ्रीका के लिए क्रिकेट खेलेगे

5.बेन स्टोक्स

इंग्लैंड के बड़े ऑल राउंडर में से एक बेन स्टोक्स का भी नाम आता है। इनका जन्म न्यूज़लैंड के क्रिस्टचार्च में हुआ था इनके पिता न्यूज़ीलैंड से इंग्लैंड आकर अपना बिजनेस खोल लिया और बेन स्टोक्स भी इंग्लैंड आकर क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया । अभी कुछ साल पहले स्टोक्स के विबाद के कारण इंग्लैंड टीम से बाहर कर दिए गए थे जिसके बाद वे न्यूज़ीलैंड के घेरुलु क्रिकेट खेल कर इंग्लैंड मे वापसी की थी।

Advertisement

Comments are closed.