नियमित तेल मालिश आपको कई समस्याओं से बचा सकती है, यह त्वचा और बालों के लिए भी अच्छी है

0

Regular oil massage can save you from many problems, it is also good for skin and hair

मालिश के फायदे अगर आप शरीर में कहीं भी दर्द, अकड़न या अपच से पीड़ित हैं, तो आप इन सभी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए नियमित तेल मालिश कर सकते हैं। शरीर की मालिश शरीर के कई हिस्सों को ठीक से काम करने में मदद कर सकती है।

शरीर पर तेल से मालिश करने से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। हममें से ज्यादातर लोग इसके फायदों के बारे में नहीं जानते हैं, लेकिन हम आपको बता दें कि नियमित मसाज सेहत के साथ-साथ आपकी त्वचा और बालों के लिए भी फायदेमंद है। यह भी जान लें कि महीने, दो महीने या 4-5 महीने में तेल मालिश कराने और हफ्ते में 1-2 बार तेल मालिश कराने में बहुत अंतर होता है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए खाना, सोना, पर्याप्त पानी पीना और नियमित व्यायाम करना जितना ही महत्वपूर्ण है, उतना ही महत्वपूर्ण है मालिश। इससे आप लंबे समय तक स्वस्थ रहते हैं।

मालिश के फायदे

मांसपेशियाँ शिथिल हो जाती हैं

नियमित मालिश से कोर्टिसोल का स्तर कम होता है, जिससे मूड बेहतर होता है। मन शरीर के साथ विश्राम करता है। मालिश एक प्रकार की थेरेपी के रूप में काम करती है, जो न केवल मानसिक तनाव को कम करती है, बल्कि जोड़ों के दर्द को भी कम करती है। मालिश से शरीर में रक्त संचार सही तरीके से होता है। यह लचीलेपन में सुधार करता है। मसाज से खराब पॉश्चर भी धीरे-धीरे सुधर जाता है।

रक्तचाप नियंत्रण

अगर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो नियमित मालिश से भी इस समस्या को नियंत्रण में रखा जा सकता है। इतना ही नहीं, यह हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में भी मदद करता है।

पाचन क्रिया सामान्य रहती है

शरीर की मालिश में पेट की मालिश भी शामिल होती है, इसलिए पेट की मालिश करने से नाभि की सक्रियता बढ़ जाती है। पेट के निचले हिस्से की मालिश करने से पीरियड्स के दर्द से राहत मिलती है। मालिश करने से बड़ी आंत, लीवर, अग्न्याशय, शरीर के सभी अंग अपना काम ठीक से कर पाते हैं, जिससे आंत में पर्याप्त मात्रा में गैस्ट्रिक जूस निकलता है और लीवर की कार्यप्रणाली सामान्य रहती है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है

शोध के अनुसार, नियमित मालिश से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, जिससे शरीर कई बीमारियों से बिना दवा के लड़ सकता है।

तनाव दूर करता है

शरीर में लगभग 30 दबाव बिंदु होते हैं, जो पूरे शरीर के साथ-साथ पैरों और हाथों से भी जुड़े होते हैं। इसके अलावा 7 रिफ्लेक्स सेंटर होते हैं, जो गर्दन, सिर, अग्न्याशय, किडनी, लिवर और प्रजनन अंगों से संबंधित होते हैं। मसाज के बाद शरीर में अच्छे हार्मोन का उत्पादन होता है, जो मन को शांत करने और डिप्रेशन से छुटकारा दिलाने में मदद करता है।

मृत त्वचा और गंदगी को हटाता है

जब शरीर की तेल से मालिश की जाती है तो इससे मृत त्वचा आसानी से निकल जाती है। नियमित मालिश से कोहनियों, घुटनों और पीठ का कालापन दूर हो जाता है। त्वचा का रंग निखरता है.

नसें स्वस्थ रहती हैं

हल्की दबाव वाली मालिश मांसपेशियों पर दबाव डालती है, जिससे तंत्रिकाओं को आराम मिलता है ताकि वे अपना काम ठीक से कर सकें। दिमाग को भी आराम मिलता है जिससे वह काम पर ज्यादा फोकस कर पाता है।

साइनस और सर्दी से राहत

चेहरे की मालिश में माथे, आंखों के आसपास मालिश करने से सिरदर्द की समस्या से राहत मिलती है। मसाज करने के बाद भाप लें. इससे सर्दी से राहत मिलती है. नियमित रूप से सिर की तेल मालिश करने से बालों की जड़ों को पोषण मिलता है, जिससे वे मजबूत, चमकदार और घने दिखते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.