सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

धोनी की कप्तानी में खेलने का था सपना, बहुत खुशकिस्मत हूं कि पूरा हो गया’

316

 एशिया कप में दमदार प्रभाव छोड़ने वाले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद उन खुशकिस्मत युवा खिलाड़ियों में शामिल हैं, जो महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में खेले हैं.

धोनी ने जब कप्तानी छोड़ी थी, तब खलील उनकी कप्तानी में नहीं खेल पाने का मलाल था, लेकिन जब एक मैच के लिए धोनी कप्तान बने तो खलील का सपना पूरा हो गया. धोनी ने वैसे तो कुछ वर्ष पूर्व ही भारत की वनडे और टी-20 कप्तानी छोड़ दी थी, लेकिन एशिया कप में अफगानिस्तान के खिलाफ टीम ने फाइनल से पहले अपने कप्तान रोहित शर्मा और उप-कप्तान शिखर धवन को आराम दिया था और ऐसे में धोनी को कप्तानी करने का मौका मिला था.उस मैच में खलील मैदान पर उतरे थे. वह उनका दूसरा अंतर्राष्ट्रीय मैच था.

खलील ने एक इंटरव्यू में कहा, “मेरी बहुत ख्वाहिश थी कि मैं धोनी की कप्तानी में खेलूं. लेकिन वो कप्तानी पहले ही छोड़ चुके थे. शायद यह मेरी किस्मत ही थी कि वह एक मैच के लिए कप्तान बने और मैं उनकी कप्तानी में खेला. इसमें खुशी बात और यह थी कि इस मैच में हम तीन तेज गेंदबाज खेले थे और धोनी में मुझे पहला ओवर करने के लिए चुना था.”

कप्तान के तौर पर यह धोनी का 200वां मैच था. इस बेहद रोमांचक मैच का नतीजा टाई रहा था. भारत ने इस मैच में नौ विकेट खो दिए थे, तब खलील ने बल्लेबाजी के लिए कदम रखा था. उन्होंने कहा कि उस समय वह सिर्फ दूसरे छोर पर खड़े रवींद्र जड़ेजा को स्ट्राइक देने के बारे में सोच रहे थे.

उन्होंने कहा, “मुझ पर दबाव था क्योंकि नौ विकेट गिर गए थे और अगर मैं आउट हो जाता तो हम मैच हार जाते. इसलिए मेरी कोशिश सामने खड़े जडेजा को स्ट्राइक देने की थी.”राजस्थान के टोंक से आने वाले इस युवा गेंदबाज का सपना भारतीय टीम का सबसे भरोसेमंद गेंदबाज बनना है. अपने लक्ष्य के बारे में बताते हुए खलील ने कहा, “मैं टीम का अहम गेंदबाज बनना चाहता हूं. मैं ऐसा गेंदबाज बनना चाहता हूं कि कप्तान टीम को किसी भी स्थिति में बाहर निकालने के लिए अगर किसी गेंदबाज को देख रहा है तो उसके दिमाग में सबसे पहला नाम मेरा आना चाहिए. न उसे सोचना पड़े ने देखना पड़े. वो आए और मुझे गेंद दे. मैं ऐसा गेंदबाज बनना चाहता हूं.”खलील को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली जाने वाली पांच मैचों की वनडे सीरीज के शुरुआती दो मैचों में टीम में चुना गया है. उन्होंने कहा कि इस सीरीज में उनकी कोशिश वही करने की होगी जो वह करते आ रहे हैं.

The post धोनी की कप्तानी में खेलने का था सपना, बहुत खुशकिस्मत हूं कि पूरा हो गया’ appeared first on GyanHiGyan.

Advertisement

Comments are closed.