सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

दुनिया का सबसे महंगा पदार्थ को जानकर हैरान हो जाओगे कितने है इसकी कीमत

4

वैसे तो दुनिया में कई महंगे पदार्थ और वस्तु हैं जिनकी कीमत करोड़ों या अरबों में हैं। कई लोग सोना और हीरे को पृथ्वी की सबसे महंगी मानते होंगे, लेकिन दुनिया में ऐसी कई वस्तुएँ हैं जिनकी कीमत दुनिया के देशों की जीडीपी से भी ज्यादा है। ऐसा ही एक पदार्थ हैं जिसे एक ग्राम बेचने पर दो-दो पाकिस्तान जैसे देशों को खरीदा जा सकता है। ये मजाक बिल्कुल भी नहीं है। दुनिया के 90 फीसदी लोगों को इस वस्तु का नाम तक नहीं सुना होगा। आइए आपको भी बताते हैं कि वो कौन सी वस्तु है जिसकी कीमत इतनी ज्यादा है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

 

You will be surprised to know the world's most expensive substance, how much it will cost

इस चीज का नाम है एंटीमैटर, जिसे दुनिया की सबसे महंगी वस्तु माना जाता है। इसे प्रतिपदार्थ भी कहा जाता है। प्रतिपदार्थ, पदार्थ का एक ऐसा प्रकार है जो प्रतिकणों जैसे पाजिट्रॉन, प्रति-प्रोटॉन, प्रति-न्यूट्रॉन से बना होता है। ये प्रति-प्रोटॉन और प्रति-न्युट्रॉन प्रति क्वार्कों मे बने होते हैं। अगर हम इसकी कीमत की बात करें तो आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी। अगर इसे एक ग्राम बेचा जाए तो दुनिया के 100 छोटे-छोटे देशों को खरीदा जा सकता है। पाकिस्तान जैसे दो देश खरीदे जा सकते हैं। जी हां, इसके 1 ग्राम की कीमत 31 लाख 25 हजार करोड़ रुपए है। उड़ गए ना होश। ये दुनिया का सबसे महंगा पदार्थ है।

एक मिलिग्राम बनाने में लग जाते हैं 160 करोड़ रुपए

You will be surprised to know the world's most expensive substance, how much it will cost

नासा की मानें तो एंटीमैटर को तैयार करने में सबसे ज्यादा रुपए भी खर्च होते हैं।

इसलिए इसकी कीमत भी ज्यादा है। आंकड़ों की मानें तो 1 मिलीग्राम एंटीमैटर बनाने में 160 करोड़ रुपए लगते हैं। इसकी सुरक्षा में भी सबसे ज्यादा खर्च किया जाता है। दुनिया में सबसे ज्यादा सुरक्षा व्यवस्था भी इसे प्रदान की जाती है।

इतना ही नहीं नासा जैसे संस्थानों में भी इसे रखने के लिए एक मजबुत सुरक्षा घेरा है।

कुछ खास लोगों के अलावा प्रतिपदार्थ तक कोई भी नहीं पहुंच सकता है।

Advertisement

Comments are closed.