सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

चीन को हराने के लिए भारत को करने होंगे ये सारे काम , आप भी पढ़ें यहाँ

3
India will have to do all these things to defeat China, you also read here भारत

भारत के पड़ोसी देशो पर चीन ने  कब्ज़ा कर रखा है और इसमें पाकिस्तान बचा हुआ है और ड्रैगन इन देशो पर  अपनी आग फैलाता रहता है जो इसकी यह मनमानी का विरोध करते है | भारत को इस स्थिति का फायदा उठाना चाहिए और अब खुलकर चीन के इन दुश्मनों से दोस्ती का हाथ बढ़ाना चाहिए। वह ड्रैगन की नाक के नीचे से जापान, मलेशिया, वियतनाम सहित कई चीन विरोधी देशों के साथ अपने सैन्य संबंधों को मजबूत कर सकता है। ऐसा करने से वह एक तरह से चीन को घेर लेगा। अमेरिका के साथ कोविद महामारी के बाद दुनिया के देशों का चीन पर असंतोष चरम पर है। भारत इस स्थिति को अपने पक्ष में कर सकता है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

India will have to do all these things to defeat China, you also read here भारत

सिंगापुर पंचवर्षीय समझौते के तहत, भारत यहां सेना और वायु सेना के अभ्यास के लिए सैन्य सामग्री प्रदान करता है। दोनों देश नियमित रूप से सिंबेक्स नामक नौसैनिक युद्धाभ्यास भी करते हैं। जापान और भारत दोनों देश समुद्री सुरक्षा, संयुक्त सैन्य अभ्यास और तकनीकों के आदान-प्रदान  करते हैं। भारत-अमेरिका के वार्षिक मालाबार नौसेना अभ्यास में जापान भी एक नियमित भागीदार बन गया है।

India will have to do all these things to defeat China, you also read here भारत

‘गरुड़ शक्ति’ सैन्य अभ्यास को बेहतर बनाने की तैयारी है।

भारत ने इंडोनेशिया को पनडुब्बी युद्धाभ्यास  सिखाने का न्योता दिया है।

दोनों देशों की नौसेनाएं अंतर्राष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा पर पैट्रॉल  करती हैं।

वियतनाम यहां सैन्य उपकरण उपलब्ध कराता है और पनडुब्बी युद्धाभ्यास में वियतनामी नौसेनाओं को प्रशिक्षित करता है।

बहुत जल्द भारतीय सैनिक वियतनामी पायलटों को सुखोई विमान उड़ाने का प्रशिक्षण देंगे।

भारत ने उन्हें  ब्रह्मोस और आकाश मिसाइलों का ऑफर दिया  है।

Advertisement

Comments are closed.