सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

खाली पेट गर्म पानी में मिलाकर पिएं यह चीज़, पेट में जमी सारी गंदगी हो जाएगी साफ

248

आज के इस युग में 50 से 60 परसेंट लोगों को सबसे बड़ी समस्या यह होती है। कि उनका पेट अच्छी तरह से साफ नहीं हो पाता है। जिससे उन्हें पेट में गैस, एसिडिटी, कब्ज, आदी समस्या होने लगती है। इसी कारण उन्हें यह कठिनाइयां देखने को मिलती है।यह समस्या इसलिए होती है कि हमारे शरीर में गंदगी जमा हो जाती है।इसी कारण हमारा पेट सही तरीके से साफ नहीं हो पाता जिससे हमें अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

आंत की कमी से पाचन तंत्र कमजोर होना-

जिस प्रकार हम हर चीज की सफाई करते हैं। उसी प्रकार हमें अपने शरीर की आंतो की भी अच्छी तरह से सफाई करनी चाहिए। हमारे शरीर की आंतों में विभिन्न प्रकार की गंदगी जमा होने लगती है जो हमारे पाचन तंत्र को बहुत ही कमजोर बना देती है। इसकी वजह से हम जो भी भोजन खाते हैं। वह अच्छी तरीके से नहीं पच पाता है।

इसी कारण हमारे शरीर में गैस कब्ज एसिडिटी जैसी गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए आज हम आपको इस न्यूज़ के माध्यम से उस नुस्खे के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके इस्तेमाल से आप अपनी आंतो को अच्छी तरीके से साफ कर सकते हैं।

नुस्खा बनाने के लिए निम्न सामग्री-

जिस नुस्खे के बारे में बताएंगे उसको तैयार करने के लिए हमें निम्न वस्तुओं की आवश्यकता होगी उनमें पहला नींबू और दूसरा पानी है। इस तैयार हुए नुस्खे को हमें केवल सुबह ही उपयोग में लेना है। तथा उपयोग के 30 मिनट बाद ही किसी वस्तु का सेवन करना आवश्यक है।

नुस्खे को बनाने तथा उपयोग करने की विधि-

नुस्खे को तैयार करने के लिए हमें एक गिलास में थोड़ा गर्म पानी लेना है। अब उसमें थोड़ा नींबू का रस डालना होगा। हल्के गर्म पानी में नींबू का रस डालने के बाद हमें इसे थोड़ा-थोड़ा करके पीना है।

यदि इस नुस्खे का उपयोग हमे सुबह के समय खाली पेट रोजाना 10 से 15 दिन तक लगातार करेंगे तो हमारी आंतो में जमा कचरा साफ होने लगेगा और हमारा पाचन तंत्र भी अच्छी तरीके से काम करने लगेगा। जिससे हमारा भोजन अच्छे से पचने लगेगा और हमारी गैस एसिडिटी जैसी समस्या से भी हमें निजात मिलने लगेगी।

Advertisement

Comments are closed.