क्या आप भी दांतों में कैविटी की समस्या से जूझ रहे हैं

0

Are you also suffering from cavity problem?

ऑयल पुलिंग का प्रयास करें:

कैविटी से छुटकारा पाने के लिए आप ऑयल पुलिंग की मदद ले सकते हैं। आपको बता दें कि ऑयल पुलिंग भारतीय आयुर्वेद का एक पुराना नुस्खा है। इसके लिए एक चम्मच तिल का तेल या नारियल का तेल अपने मुंह में रखें। इसके बाद इस तेल को करीब बीस मिनट तक मुंह में घुमाएं। इसके बाद तेल को थूक दें और साफ पानी से धो लें।

 

एलोवेरा-टी ट्री ऑयल की मदद लें:

एलोवेरा टूथ जेल और टी ट्री ऑयल भी दांतों की कैविटी से राहत दिलाने में मदद करते हैं। इसके लिए एंटी-बैक्टीरियल तत्वों से भरपूर एलोवेरा टूथ जेल और टी ट्री ऑयल को मिलाकर कैविटी वाली जगह पर लगाएं। इसे कुछ देर तक लगा रहने दें, फिर साफ पानी से अपना मुँह धो लें।

 

विटामिन और खनिजों से भरपूर आहार लें:

दांतों को कैविटी से बचाने और उन्हें स्वस्थ रखने के लिए स्वस्थ आहार भी महत्वपूर्ण है। ऐसे में विटामिन डी, कैल्शियम, फास्फोरस और मैग्नीशियम से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करें। इससे कैविटी से तो छुटकारा मिलता ही है, साथ ही दांतों की मजबूती भी बढ़ती है।

 

मीठी चीजों से रहें दूर:

मीठे व्यंजन दांतों में कैविटी के लिए ट्रिगर का काम करते हैं। ऐसे में कैविटी की समस्या से बचने के लिए जरूरी है कि मीठी चीजों से दूरी बनाई जाए। विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO भी डाइट में शुगर फ्री चीजों को शामिल करने की सलाह देता है. खासकर रात को सोने से पहले मीठे का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। इससे दांत खराब हो सकते हैं.

 

शुगर-फ्री च्युइंग गम चबाएं:

रोजाना खाना खाने के बाद शुगर-फ्री च्युइंग गम चबाने से दांतों के इनेमल को नुकसान पहुंचाने वाले बैक्टीरिया का स्तर भी कम हो जाता है, जिससे दांतों का इनेमल मजबूत होता है। इस तरह मुंह के बैक्टीरिया दांतों को नुकसान नहीं पहुंचा पाते और दांत स्वस्थ रहते हैं।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.