सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

आर्थिक रूप से बर्बाद हैं भारत के ये राज्य, हो सकते हैं श्रीलंका जैसे हालात आर्थिक रूप से बर्बाद हैं भारत के ये राज्य, हो सकते हैं श्रीलंका जैसे हालात

0 11


Related Posts

श्रीलंका के बाद अब बांग्लादेश का नंबर, दिवालियापन का संकट गहराया! जो…

देश के कई राज्यों पर श्रीलंका से ज्यादा कर्ज है। हाल ही में प्रधानमंत्री और शीर्ष अधिकारियों के बीच हुई बैठक में राज्यों पर बढ़ते कर्ज का मुद्दा उठाया गया था।

भारतीय राज्य आर्थिक रूप से बर्बाद (प्रतीकात्मक छवि)

श्रीलंका भारत के दक्षिण में एक तटीय देश है (श्रीलंका)की आर्थिक स्थिति किसी से छिपी नहीं है। खराब आर्थिक स्थिति के कारण वहां के लोग पेट्रोल का इस्तेमाल करते थे।पेट्रोल) खाने से लेकर हर चीज के लिए तरस रहे हैं। इसके पीछे कारण यह है कि श्रीलंकाई सरकार अपने राजस्व और व्यय को संतुलित नहीं कर पाई है, जिसके परिणामस्वरूप आज उनके देश पर लगभग 6 लाख करोड़ रुपये का कर्ज है। वहीं, भारत में कई ऐसे राज्य हैं जिन पर श्रीलंका जितना कर्ज। आज हम आपको भारत के उन राज्यों के बारे में बताएंगे जो भारी कर्ज के बोझ तले दबे हैं।

इन राज्यों पर सबसे ज्यादा कर्ज

इस मामले में भारत के अग्रणी राज्य शीर्ष पर हैं। भारत सरकार के व्यय विभाग के अनुसार, तमिलनाडु पर 6.6 लाख करोड़ रुपये, महाराष्ट्र पर 6 लाख करोड़ रुपये, पश्चिम बंगाल पर 5.6 लाख करोड़ रुपये, राजस्थान पर 4.7 लाख करोड़ रुपये और पंजाब पर 3 लाख करोड़ रुपये का कर्ज है।

बढ़ते कर्ज पर अधिकारियों ने जताई चिंता

हाल ही में प्रधानमंत्री और केंद्र के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच बैठक हुई थी। इसमें अधिकारियों ने चुनाव के दौरान कई राज्यों में किए गए वादों पर चिंता जताई। अधिकारियों ने कहा कि इस तरह के वादे राज्य सरकारों के खजाने पर अधिक बोझ डाल सकते हैं और श्रीलंका जैसे देश के कई राज्यों के समान स्थिति पैदा कर सकते हैं। प्रधान मंत्री के साथ बैठक लगभग 4 घंटे तक चली और इसमें देश के कई शीर्ष आईएएस अधिकारियों के अलावा एनएसए अजीत डोभाल, प्रधान मंत्री के मुख्य सचिव पीके मिश्रा और कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने भाग लिया।

भारत ने श्रीलंका को भेजी मदद

बढ़ते आर्थिक संकट के बीच श्रीलंका की जनता महंगाई से जूझ रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक श्रीलंका में एक चाय की कीमत 100 रुपये के करीब पहुंच गई है. लोगों के पास खाने के लिए चीजें नहीं हैं। श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में 13-13 घंटे बिजली कटौती की पेशकश की जा रही है. भारत ने हाल ही में श्रीलंका को 40,000 मीट्रिक टन डीजल और 40,000 टन चावल की चार खेप भेजी है।

यह भी पढ़ें: डॉक्टरों की हड़ताल खत्म होने के बाद सोला सिविल में तीसरी कक्षा के कर्मचारी हड़ताल पर

यह भी पढ़ें: पीवी सिंधु का कोरिया ओपन जीतने का सपना टूटा, 48 मिनट में हार गई कोरियाई खिलाड़ी

अधिक समाचार पढ़ने के लिए हमारे ट्विटर समुदाय में शामिल होने के लिए यहां क्लिक करें-



Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.