आपको भी बार-बार चक्कर आते हैं, ये हो सकता है

0

You also get dizzy again and again, this could be

भारत में आज भी कई बीमारियों को लेकर अंधविश्वास कायम है। इन बीमारियों के इलाज के लिए लोग उमड़ते हैं. कभी-कभी यह अंधविश्वास जानलेवा भी हो सकता है। मिर्गी एक ऐसी बीमारी है। इस बीमारी को लेकर आज भी लोगों के बीच कई तरह की भ्रांतियां व्याप्त हैं। मिर्गी आने पर कई लोग झाड़-फूंक का सहारा लेते हैं, लेकिन सही समय पर इलाज कराने पर मिर्गी को ठीक किया जा सकता है। मिर्गी के लक्षणों की पहचान होते ही तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। आइए आज जानते हैं दिल्ली के आयुष्मान हॉस्पिटल के न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. अभिषेक श्रीधर से, मिर्गी के मुख्य लक्षण क्या हैं।

  1. चक्कर आना: मिर्गी से पीड़ित लोगों को बार-बार दौरे पड़ते हैं। उन्हें कभी भी, कहीं भी अचानक चक्कर आने लगता है। अगर आपके किसी परिचित में ऐसे लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। मिर्गी की बीमारी होने पर बिना झिझक डॉक्टर की सलाह के दवा लें।

शरीर में झनझनाहट : मिर्गी से पीड़ित मरीजों के शरीर में हमेशा झनझनाहट होती रहती है। यदि रोगी के शरीर में झनझनाहट हो तो वह मिर्गी का रोगी हो सकता है।

  1. गुस्सा आना: मिर्गी के मरीजों को अचानक बहुत ज्यादा गुस्सा आने लगता है. यह गुस्सा बहुत तीव्र हो सकता है. वह किसी भी बात पर अचानक क्रोधित हो सकते हैं।

  2. मुंह से झाग निकलना: अगर किसी को मिर्गी का दौरा पड़ता है तो उसके मुंह से झाग निकलने लगता है। अगर आपके किसी परिचित को चक्कर आने पर उसके मुंह से झाग निकलने लगे तो वह भी मिर्गी का शिकार हो सकता है। ऐसी स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

इन सभी लक्षणों के अलावा मिर्गी के कुछ अन्य लक्षण भी हो सकते हैं। मिर्गी के मरीजों को जीवनशैली में भी कई बदलाव करने पड़ते हैं। मिर्गी के रोगियों को धूम्रपान, शराब आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे मिर्गी का खतरा बढ़ जाता है। मिर्गी के रोगियों को स्वस्थ आहार खाना चाहिए। जिससे शरीर स्वस्थ और फ़िट रह सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.