सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

आखों के फड़कने के क्या कारण है और इसे कैसे ठीक करें

1

अचानक से कईं बार हमारी आँख फड़कने लग जाती है। पर इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। कईं बार हम इससे शुभ-अशुभ भी सोचने लग जाते हैं। वो बात तो अलग है। बाकी अक्सर मांसपेशियों के संकुचित होने पर ही फड़कती है। हमारी आंखें शरीर के कुछ सबसे संवेदनशील हिस्सों में से एक है इसलिए आखों के मामले में थोड़ी सी लापरवाही भी हमारे लिए कई बार बड़े गंभीर समस्या ला सकती है।

  • कईं बार नींद पूरी ना मिल पाने के कारण भी आँख फड़कने लग जाती है। थकान और तनाव भी इसके ख़ास कारण हैं।
  • इससे आपके आखों की रोशनी जाने का भी खतरा है।
  • आखों के फड़कने का अन्य कारण पार्किंसंस, स्ट्रोक, बेल्स पॉल्सी, टोरेट्स सिंड्रोम, कंजंक्टिवाइटिस जैसी कुछ विशेष बीमारियां भी हो सकती हैं।
  • आखों की मांशपेशियों में संकुचन से कभी-कभी आंखें फड़कने लगती हैं।
  • कम रौशनी में बैठकर कंप्यूटर पर काम करने से भी कईं बार आंख फड़कने लग जाती है…

  • और इसके कई कारण हो सकते हैं। जैसे तनाव, आखों पर पड़ने वाले जोर, आंखों में सूखेपन, सिगरेट-शराब का ज्यादासेवन से या चाय, कॉफी के ज्यादा सेवन से भी हो सकता है। लेकिन क्या आप जानते है कई बार ये किसी खतरनाक बीमारी का संकेत भी हो सकता है।
  • अगर आंखों का फड़कना लगातार जारी रहता है या फड़कने के साथ-साथ आंखों में दर्द, चुभन और पानी निकल रहा है तो आपको जल्दी ही अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए।
  • और कई बार डॉक्टर किसी विशेष इंजेक्शन या फिर एक्यूप्रेशर की तकनीक से इस समस्या का हल बता देते हैं और आपकी आंखें आसानी से ठीक हो सकती हैं।
  • हमेशा अपनी नींद पूरी लें। समय रहते ही ठंडे पानी से आंखो को धोये। रोज़ आँखों पर हल्का-हल्का मसाज़ करें फड़ने पर पलकों को 30 सेकिंड्स तक लगातार झपकायें।

अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई तो इस पोस्ट को लाइक करना ना भूलें और अगर आपका कोई सवाल हो तो कमेंट में पूछे हमारी टीम आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेगी|  आपका दिन शुभ हो धन्यवाद |

Advertisement

Comments are closed.