सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

अपने दिल और पेट को रखना है अगर स्वस्थ ,तो करें ये 2 बेहद सरल योगासन , अभी देखें वरना पछताओगे

48

आज स्वास्थ्य पर ध्यान देना बहुत महत्वपूर्ण हो गया है। लोग घर पर ही व्यायाम करके खुद को स्वस्थ रख रहे हैं। दूसरी ओर, अगर हम योग की बात करें तो योग भारतीय संस्कृति की पांच हजार साल पुरानी धरोहर है, जिसके संस्थापक महर्षि पतंजलि हैं। योग अभ्यास जीवन शैली का पूरा सार शामिल करता है। योग में कई आसन हैं। योग के दौरान किए जाने वाले प्रत्येक योगासन का अपना एक अलग महत्व है। नियमित योग करने से व्यक्ति का शरीर फिट रहता है और उसे किसी भी तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है।

आज हम आपको कुछ ऐसे योगासनों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके दिल को अच्छी तरह रखेंगे। तो आइए जानते हैं कि कौन से योगासन हृदय संबंधी सभी बीमारियों को खत्म करते हैं।

पवनमुक्तासन:

पवन का अर्थ है हवा और मुक्तासन का अर्थ है मुक्ति। इसका मतलब है कि वह आसन जो शरीर से अतिरिक्त गैस को बाहर निकालने में सहायक है। यह आपके शरीर से हानिकारक गैस को निकालने में भी मदद करता है और आपको कई बीमारियों से बचाता है। पवनमुक्तासन पेट और कमर की मांसपेशियों के खिंचाव को शांत करने में मदद करता है। पाचन की खराब समस्याओं से पीड़ित मरीजों को आमतौर पर पवनमुक्तासन करने की सलाह दी जाती है।

पवनमुक्तासन करने की विधि

सबसे पहले आप अपनी पीठ के बल लेट जाएं।

  • दोनों पैरों को फैलाएं और उनके बीच की दूरी को कम करें। अब दोनों पैरों को उठाएं और अपने घुटनों को मोड़ें।
  • अपने घुटनों को अपनी बाहों से घेरें।
  • गहरी सांस लें, घुटनों को दबाएं और छाती की ओर लाएं।

सिर को उठाएं और घुटनों को छाती के पास लाएं, जिससे ठुड्डी घुटनों को छू जाएगी।

  • इसे यथासंभव लंबे समय तक बनाए रखें
  • फिर पैरों को जमीन पर टिका लें।

वज्रासन:

ज्यादातर योगासन खाली पेट किए जाते हैं, लेकिन वज्रासन अन्य आसनों की तुलना में आसान है। आप खाना खाने के बाद भी ऐसा कर सकते हैं, बल्कि यह पाचन तंत्र के लिए अच्छा माना जाता है।

वज्रासन करने की विधि

  • अपने घुटनों पर बैठें।

इस दौरान दोनों पैरों की उंगलियों को आपस में मिलाएं और एड़ियों को अलग रखें।

  • अब अपने नितंबों को एड़ियों पर टिका लें।

अब हथेलियों को घुटनों पर रखें।

  • इस दौरान अपनी पीठ और सिर को सीधा रखें।
  • दोनों घुटनों को साथ रखें।

अब अपनी आँखें बंद करें और सामान्य रूप से सांस लें।

इस अवस्था में आप पांच से 10 मिनट तक बैठने की कोशिश करें।

Advertisement

Comments are closed.