सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

अगर सर्दियों में आपके हाथ और पैरों में अकड़न हो जाती है, तो जानिए इससे कैसे छुटकारा पाया जा सकता है

4
If your hands and feet get stiff in winter, then know how to get rid of it.

आजकल मौसम बहुत ठंडा हो रहा है और सर्दी अपने चरम पर है। यही वजह है कि लोग कम निकलते हैं। जिससे लोगों की फिजिकल एक्टिविटी भी कम हो जाती है। यही वजह है कि लोगों की मांसपेशियां धीरे-धीरे अकड़ जाती हैं। सर्दियों में इस समस्या का सामना सभी को करना पड़ता है, इसका इलाज करना बेहद जरूरी है।

मांसपेशियों में अकड़न के कारण चलने में कठिनाई। यह समस्या बुजुर्गों में ज्यादा होती है, क्योंकि उन्हें पहले से ही चलने में परेशानी होती है। तो आइए इस लेख के माध्यम से जानते हैं मांसपेशियों में अकड़न के कारण और उसके उपाय।

पेशी अकड़न क्या है?

मांसपेशियों में जकड़न अक्सर दर्द का कारण होती है। मांसपेशियों में अकड़न किसी विशेष मांसपेशी के अत्यधिक उपयोग के बाद हो सकती है, या यह किसी अंतर्निहित स्थिति के कारण हो सकती है। मांसपेशियां तीन प्रकार की होती हैं: कंकाल, हृदय और चिकनी।

मांसपेशियों की जकड़न मुख्य रूप से कंकाल की मांसपेशियों को प्रभावित करती है, जो एक व्यक्ति को दैनिक गतिविधियों को करने में सक्षम बनाती है। यदि कोई समस्या तंत्रिका तंत्र और मांसपेशियों की कोशिकाओं के बीच संचार को अवरुद्ध करती है, तो मांसपेशियां सिकुड़ सकती हैं (मांसपेशियों में अकड़न) और कठोरता का परिणाम होता है।

मांसपेशियों में अकड़न का क्या कारण है?

मांसपेशियों में अकड़न आमतौर पर कंकाल की मांसपेशियों के अत्यधिक उपयोग के बाद, गति की सीमा की कमी के कारण, या नए अभ्यासों में संलग्न होने के बाद होती है। इन क्रियाओं से मांसपेशियों की कोशिकाओं को अस्थायी नुकसान हो सकता है, जिससे अकड़न हो सकती है। व्यायाम न करने वाले लोगों में अत्यधिक उपयोग से मांसपेशियों की कठोरता अक्सर देखी जाती है।

इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन भी मांसपेशियों की जकड़न पैदा कर सकता है, खासकर व्यायाम के बाद। इलेक्ट्रोलाइट्स (जैसे, सोडियम, पोटेशियम, आदि) शरीर में महत्वपूर्ण खनिज हैं जो अन्य कार्यों के साथ-साथ तंत्रिका और मांसपेशियों के संकुचन में भूमिका निभाते हैं। जब कोई व्यक्ति व्यायाम करता है, तो पानी के साथ-साथ इलेक्ट्रोलाइट्स भी निकल जाते हैं। यह तंत्रिका तंत्र के लिए मांसपेशियों की गति को सुविधाजनक बनाने के लिए और अधिक कठिन बना देता है।

तो अगर आप भी इन दिनों अपनी मसल्स में टाइट फील कर रहे हैं तो इन टिप्स को फॉलो करें

गरम तेल की मालिश

सर्दियों के मौसम में मांसपेशियों में अकड़न एक आम समस्या है, जिसके लिए आप गर्म तेल की मालिश कर सकते हैं। आप इसके लिए गर्म सरसों के तेल का उपयोग कर सकते हैं, क्योंकि नेशनल इंफॉर्मेशन फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन के अनुसार इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं।

शिक्षा

गर्मी मांसपेशियों की जकड़न के लिए बेहतर काम कर सकती है। इसके लिए आप हीटिंग पैड या हीट थेरेपी का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन ध्‍यान रखें कि प्रभावित हिस्‍से को 20 मिनट से ज्‍यादा न दबाएं।

स्ट्रेचिंग

मांसपेशियों को लचीला बनाए रखने और अकड़न कम करने के लिए स्ट्रेचिंग जरूरी है। इसके लिए नियमित व्यायाम के लिए समय निकालें, व्यायाम से पहले और बाद में शरीर को स्ट्रेच करें, गर्म पानी से स्नान करें और दर्द वाली जगह पर मालिश करें।

पानी प

पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से मांसपेशियां बेहतर तरीके से काम करती हैं। कई विशेषज्ञ प्रतिदिन आठ गिलास पानी पीने की सलाह देते हैं। अगर आप सक्रिय हैं और पसीना आता है तो आपको अधिक पानी पीना चाहिए। कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि व्यायाम के दौरान निर्जलीकरण से मांसपेशियों के क्षतिग्रस्त होने की संभावना बढ़ जाती है और मांसपेशियों में अधिक दर्द होता है।

Advertisement

Comments are closed.