सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

अगर आप भी पहनती हैं चांदी की पायल तो इसे जरूर पढ़ें

0 4


चंदा मंडावकर:

 

पैजन महिलाओं के औपचारिक श्रंगार में से एक माना जाता है। पैरों में पाई लगाने से न सिर्फ पैरों की खूबसूरती बढ़ती है बल्कि इसे वैवाहिक जीवन की निशानी भी माना जाता है। लेकिन आज के बदलते समय के हिसाब से ज्यादातर लोग तरह-तरह की पायल पहनते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं पैरों में चांदी के गहने पहनने से पैरों की खूबसूरती बढ़ जाती है। लेकिन इसके कुछ फायदे भी हैं।

भारत में कई वर्षों से सट्टेबाजी का सामाजिक और आध्यात्मिक महत्व बताया जाता रहा है। भले ही यह चांदी का दांव हो, लेकिन इसके पीछे कुछ ज्योतिषीय और वैज्ञानिक कारण हैं। पजान धारण करने से व्यक्ति के शरीर में ऊर्जा का संचार होता है। तो आइए जानते हैं चांदी की पायल के फायदों के बारे में।ये है चांदी की पायल पहनने का वैज्ञानिक कारण!!!  |  फैशनवर्ल्डहब

आइए सबसे पहले पैजन के इतिहास पर नजर डालते हैं।पाइजन के इस्तेमाल की परंपरा भारत में प्राचीन काल से ही शुरू हो गई थी। उस समय भारी सट्टा लगाना धन का प्रतीक माना जाता था। यदि कोई महिला बड़ी बाजी लगाती थी, तो उसे एक अमीर परिवार से संबंधित माना जाता था। लेकिन हल्के दांव गरीबों की ओर इशारा करते हैं। इतना ही नहीं, हम्पी की मूर्तियों से पता चलता है कि पई हमारे आभूषणों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। पैजनों को पाटिलू, पायल, गोलसु और कुछ जगहों पर नूपुर के नाम से जाना जाता है।

ज्योतिष के अनुसार चांदी के सट्टे के फायदे

डिजाइनर पायल जिन्हें आप घर पर बिल्कुल पहन सकती हैं!  • दक्षिण भारत ज्वेल्स

-चांदी को चंद्र ग्रह की धातु माना जाता है। चंद्रमा हमारे मन से जुड़ा है और हमारी मानसिक शक्ति को बढ़ाता है और नकारात्मक ऊर्जा को दूर करता है। इसलिए चांदी का ताबीज धारण करने से शरीर की सारी नकारात्मकता दूर हो जाती है और सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। दरअसल चंद्रमा शरीर में एनर्जी बनाए रखने में मदद करता है। माना जाता है कि चांदी की उत्पत्ति भगवान शंकर के नेत्रों से हुई है, इसलिए चांदी भी समृद्धि का प्रतीक है।

– साथ ही जब हमारी मानसिक स्थिति अच्छी होती है और तब हम किसी भी समस्या का समाधान कर सकते हैं। इन्हीं कारणों से ज्योतिष शास्त्र में चांदी के दांव लगाने की सलाह दी जाती है।

चांदी की माला शरीर को ठंडक पहुंचाती है

506 भारतीय टखने के कंगन स्टॉक तस्वीरें, चित्र और रॉयल्टी-मुक्त छवियां - iStock

पैरों में पैर रखा जाता है, यह केतु की स्थिति मानी जाती है। यदि केतु शांत नहीं है तो यह हमेशा नकारात्मक विचारों और पीड़ा का कारण हो सकता है। इसलिए अगर आप अपनी सहनशक्ति को बढ़ाना चाहती हैं तो चांदी की पायल जरूर लगाएं।

टांगों के दर्द से आराम मिलता है

सिल्वर एंकलेट ट्रेंडी इंडियन ऑक्सीडाइज़्ड एंकलेट फीट ब्रेसलेट - Etsy

अगर आप पैरों में दर्द, सुन्नपन या पैरों में झुनझुनी से परेशान हैं तो चांदी पहनना फायदेमंद हो सकता है। पैर के निचले हिस्से में तेज दर्द होने पर पंजाना विशेष रूप से फायदेमंद है। अगर आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो चांदी में जरूर निवेश कर सकते हैं। चांदी के कंगन आपको इन कुछ समस्याओं से दूर रखते हैं।


यह भी पढ़ें: लड़कियों की शादी करने की सही उम्र क्या है?

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.