एक वेश्या ने स्वामी विवेकानंद को कराया सन्यासी होने का एहसास कहानी पढ़े

2

स्वामी विवेकानंद भारतीय संस्कृति के ऐसे महान विद्वान थे जिनकी ज्ञान के प्रकाश से सम्पूर्ण जगत में भारत के ज्ञान का प्रकाश फैला था एक सन्यासी के रूप में स्वामी विवेकानंद ने ज्ञान से युक्त ग्रंथो की रचना करके युवाओं में जीने की एक नयी राह दिखाई Iइसलिए आज हम आपको स्वामी विवेकानंद की एक प्रेरक हिन्दी कहानी सुनाने जा रहे हैं I

a-prostitute-made-swami-vivekananda-realize-the-story-of-being-a-monk-read-the-story स्वामी विवेकानंद

विवेकानंद की प्रसिद्धि देश विदेशो में फैली हुई थी जिसके कारण एक बार एक विदेशी महिला उनके विचारो से प्रभावित होकर उनके पास आयी और स्वामी विवेकानंद से बोली की मै आपसे शादी करना चाहती हु ताकि आपके जैसा ही मुझे गौरवशाली पुत्र की प्राप्ति हो. जिससे हमारा पुत्र बड़ा होकर इस संसार को ज्ञान की प्राप्ति कराये और मेरा नाम रोशन करे

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

इस पर विवेकानंद जी बोले की क्या आप जानती है की “मै एक सन्यासी हु भला मै कैसे शादी कर सकता हु अगर आप चाहो तो हमे आप अपना पुत्र बना ले. जिससे मेरा सन्यास भी नही टूटेगा और आपको मेरे जैसा पुत्र भी मिल जाएगा”a-prostitute-made-swami-vivekananda-realize-the-story-of-being-a-monk-read-the-story स्वामी विवेकानंद

इतना सुनते ही वः विदेशी महिला स्वामी विवेकानंद के चरणों में गिर पड़ी और बोली धन्य है आप. आप साक्षात् ईश्वर के रूप के सामान है जो किसी भी परिस्थिति में भी आप अपने धर्म के मार्ग से विचलित नही होते है

Advertisement

Comments are closed.