सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

सूर्य का कुंभ में गोचर, इन 5 राशियों का होगा भाग्योदय, ये राशियां होंगी कर्ज से तबाह, जानें अपनी राशि

234

सूर्य का गोचर कुंभ राशि में होने जा रहा है। वैदिक ज्योतिष में सूर्य को पिता का स्थान दिया गया है। साथ ही सूर्य को बड़ा भाई, पिता और पूर्वज का प्रतिनिधित्व का कारक ग्रह माना गया है। सूर्य को अन्य ग्रह की अपेक्षा सबसे उंचा माना जाता है।

सूर्य जिस जातक की कुंडली में मजबूत रहता है उसे न सिर्फ केवल अपने परिवार बल्कि समाज में भी अधिक सम्मान और प्रतिष्ठा प्राप्त होती है। वहीं जब किसी जातक की कुंडली में सूर्य कमजोर रहता है तो व्यक्ति की पारिवारिक प्रतिष्ठा से लेकर सामाजिक प्रतिष्ठा तक धूमिल हो जाती है।

इतना ही नहीं सूर्य से पीड़ित व्यक्ति को करियर से संबंधित भी अत्यधिक परेशनियों का सामना करना पड़ता है। ज्योतिषी  के अनुसार सूर्य का कुंभ राशि में गोचर 8 फरवरी (सोमवार) 2021 को सुबह 3 बजकर 2 मिनट पर होगा। सूर्य के इस गोचर से कुंभ राशि समेत अन्य राशियों पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा।

मेष

मेष राशि के जातकों के लिए यह गोचर अच्छा साबित होगा। यह गोचर आपके लिए भाग्यशाली रहने वाला है। इस गोचर के दौरान आपकी सभी इच्छाएं पूरी होगी। गोचर की अवधि में आप धार्मिक कार्यों में रूचि लेंगे। पिता के लिए भी यह गोचर बेहद अच्छा साबित होगा। जीवनसाथी की ओर से लाभ प्राप्त होंगे। इसके अलावे आपको अपने पहले के कार्य भी सफलतापूर्वक साबित होंगे।

वृष

वृष राशि के जातकों के लिए यह गोचर कुछ अच्छा साबित नहीं होगा। इस गोचर के दौरान आपका पारिवारिक जीवन दुखमय होगा। जमीन बिक्री खरीद-बिक्री के संबंध में कुछ कठोर निर्णय लेने पड़ेंगे। गोचर के दौरान आपको अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना पड़ेगा। जीवनसाथी से धन लाभ के भी योग हैं।

मिथुन

इस गोचर के दौरान आपको अपनी इच्छाशक्ति में बढोतरी होगी। इस दौरान आप जो भी चाहेंगे उसे पूरा करने की जबरदस्त कोशिश भी करेंगे। किसी दूर की यात्रा पर भी जा सकते हैं। धार्मिक कार्यों में आपकी रुचि बढ़ेगी। झूठे आरोपों से बचकर रहना होगा। पिता के साथ किसी बात पर बहस हो सकती है।

कर्क

सूर्य का यह गोचर स्वास्थ्य की दृष्टि आपके लिए सही नहीं साबित होगा। आर्थिक दृष्टि से भी यह गोचर आपके लिए परेशानी का कारण बनेगा। अनावश्यक तनाव और व्यर्थ की चिंताएं परेशान करेंगी। खर्च की अधिकता बढ़ेगी। व्यर्थ के व्यय से बचना होगा।

Advertisement

Comments are closed.