सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

शराब के नाम से ही नफरत करते हैं भारतीय टीम के ये 4 खिलाड़ी, तीसरा नाम कर देगा हैरान

1,652

अभी हमारी भारतीय टीम फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में है और आपको बतादें कि मौजूदा समय में क्रिकेट के खेल में बने रहने के लिए खिलाड़ियों को फिट रहना बहुत जरूरी हो गया है. जिस तरह से क्रिकेट का तेज़ी से विस्तार हो रहा है. खिलाड़ियों के लिए जरूरी हो गया है कि वह फिट रहें और खुद को चुस्त दुरुस्त रखें. क्रिकेट के खेल में खुद को फिट रखने के लिए खिलाड़ियों को अपनी इच्छाओं पर काबू पाना होता है. इतना ही नहीं खिलाड़ियों को अपनी मनपसंद का खाना नहीं बल्कि वो आहार लेना पड़ता है जो उन्हें फिट रखने में मदद करता है.

मगर ऐसा बहुत कम ही क्रिकेटर कर पाते हैं. लेकिन जो ऐसा करने में कामयाब हो जाते हैं उनका करियर भी काफी लंबा होता है तथा वह फिट भी रहते हैं.

आज हम आपको 4 भारतीय क्रिकेटर्स के बारे में बताने जा रहे हैं. जो शराब पीना तो दूर इसके नाम से ही नफरत करते हैं. आईये जानते हैं कौन हैं ये खिलाड़ी.

भुवनेश्वर कुमार

मौजूदा समय में भारत के सबसे स्विंग गेंदबाज़ और किफायती गेंदबाज़ के रूप में भुवनेश्वर कुमार का नाम लिया जाता है. यह खिलाड़ी अपनी लाजवाब फिटनेस के कारण काफी जाना जाता है. इसके साथ ही इनकी स्विंग के क्या कहने. बता दें कि कुमार शराब से कोसों दूर हैं तथा इसका सेवन नहीं करते.

अजिंक्य रहाणे

भारत के बेहतरीन सलामी बल्लेबाज़. जो अपनी बल्लेबाज़ी से विरोधी टीम के गेंदबाज़ो की हालत पतली कर देते हैं. अजिंक्य रहाणे कभी भी शराब को हाथ नहीं लगा देते. किसी कार्यक्रम में जाने पर भी वह कोलड्रिेंक पीते हैं तथा शराब से दूर रहते हैं.

केधार जाधव

भारत के उभरते युवा खिलाड़ी केधार जाधव मैदान पर कई बार टीम के कप्तान का दिल जीत चुके हैं. इन्होंने अपने प्रदर्शन से टीम को जीत दिलाई है. बता दें कि केधार जाधव बहुत सरल और सादगी वाला जीवन जीते हैं तथा शराब के सेवन से खुद को दूर रखते हैं.

महेंद्र सिंह धोनी

जी हां, भारत के सबसे सफल कप्तान, खिलाड़ी, विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी भी शराब से कोसो दूर हैं. धोनी किसी भी पार्टी में जाते हैं तो सोफ्ट ड्रिंक से काम चला लेते हैं लेकिन कभी शराब का गिलास तक हाथ में नहीं पकड़ते. शायद यही कारण है कि उम्र के इस पड़ाव में पहुंचने के बाद भी उनकी फिटनेस युवा खिलाड़ियों के लिए मिसाल है.

Advertisement

Comments are closed.