सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

लड़कियों के खून से नहाती थी ये रानी, वजह जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

0 24
सदियों से महिलाएं अपनी खुबसूरती को बरकरार रखने के लिए तरह-तरह के नुस्खें अपनाती आ रही हैं। पुराने समय में भी महिलाएं अपनी सुंदरता को बनाए रखने के लिए कोई न कोई तरकीब आजमाती थीं। आपने यह तो हमेशा ही सुना होगा कि पहले की कई रानियां दूध से स्नान करती थी तो कई शहद से, वहीं कई रानियां ऐसी थी जो अपने लिए विशेष प्रकार के लेप को बनवाती थीं। लेकिन आपने कभी ऐसी रानी के बारे में सुना है जो खून से नहाती थी, जी हां एक रानी सिर्फ खून से नहाती थी, वो भी कुंवारी लड़कियों के खून से।
अपनी क्रूरता के लिए मशहूर सबसे खतरनाक और महिला सीरियल किलर इस रानी का नाम पूरे इतिहास में अलग ही है और इस रानी का नाम एलिजाबेथ बाथरी है। इसने अपनी खुबसूरती को निखारने और हमेशा जवान रहने के लिए 1585 से लेकर 1610 तक 600 से भी ज्यादा लड़कियों को मौत के घाट उतार दिया और उसके खून से स्नान किया। एलिजाबेथ हंगरी के साम्राज्य में बाथरी परिवार से संबंध रखती थी और उसकी शादी फेरेंक नैडेस्डी से हुई थी। माना जाता है कि उस महिला को शादी के पहले से ही खून से नहाने का शौक था लेकिन उसने हद तब कर दी जब 1604 में उसका पति मर गया। उसका महल स्लोवानिया के चास्चिस में स्थित था और वह वहीं सभी लड़कियों को मारती थी।
Related Posts

लोगों को इस द्वीप पर जाने की अनुमति नहीं है, जानिए क्यों

WWE से जुडी एक कड़वी सच्चाई जिसे जानकार हैरान रह जायेंगे

इस बात से जरूर आपका दिल दहल गया होगा कि कोई महिला इतनी क्रूर कैसे हो सकती है जिसने सिर्फ अपनी सुंदरता को बनाए रखने के लिए इतनी हत्याएं की। तो हम आपको बताते हैं कि वह ऐसा कैसे करती थी। दरअसल एलिजाबेथ बाथरी को ऐसा लगता था कि अगर वह कुंवारी लड़कियों के खून से स्नान करेगी तो उसकी जवानी हमेशा बरकरार रहेगी और वह अपने इसी काम से सीरियल किलर बन गई। वह एक रानी थी इस कारण वह आसपास के गांवों की गरीब लड़कियों को पैसों का लालच देकर अपने महल में बुलाती थी। लेकिन महल में आने के बाद से ही उन्हें बहुत ही बुरी तरह प्रताड़ित किया जाता था। उनकी पिटाई की जाती थी और वह खुद लड़कियों के शरीरों को दातों से काटकर खून निकाल देती थी। अंत मे उनकी हत्या कर उनके खून को एक टब में इकट्ठा करके स्नान करती थी। इस काम में उसका साथ उसके नौकर देते थे।
उस रानी का आंतक पूरे 25 सालों तक चला और लोगों के शिकायत करने पर हंगरी के राजा ने उसे गिरफ्तार कर लिया और 21 अगस्त 1614 को जेल में ही उसकी मौत हो गई। उसके महल की छान-बीन की गई तो वहां कई लड़कियों की लाशें मिली और कई लड़कियां जिंदा मिली जो बेड़ियों से जकड़ी मिली। एलिजाबेथ बाथरी के ऊपर कई किताबें भी लिखी जा चुकी है और कई फिल्में भी बन चुकी है। 21 अगस्त 2017 को एलिजाबेथ बाथरी के मौत को 400 साल पूरे हो चुके है। यह भी माना जाता है कि उसके ऊपर 1897 में एक ड्रैकुला उपन्यास भी लिखा गया है, जिसे आयरलैंड के उपन्यासकार ब्राम स्टोकर ने लिखा था।

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.