सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

मूर्ख व्यक्ति के 10 लक्षण, जो विदुर नीति में बताए गए हैं

454

विदुर नीति में विदुर ने मनुष्यों के बारे में बहुत सारी ऐसी बातें बताई है जिसे आज के मनुष्यों को जानना बहुत ही जरूरी है आज हम आप लोगों को विदुर नीति में बताई गई मूर्ख मनुष्य के 10 लक्षण के बारे में बताने जा रहे हैं।

मूर्ख व्यक्ति में होते है ये 10 लक्षण-

मूर्ख व्यक्ति हमेशा बड़े-बड़े सपने देखता है और एक छोटा सा परिश्रम भी नहीं करता है। जो व्यक्ति मूर्ख होता है

वह सिर्फ बड़ी-बड़ी बातें कर सकता है लेकिन एक छोटा सा काम भी नहीं कर सकता।

जो व्यक्ति अपना काम छोड़कर दूसरे के कार्य को करता है वह मूर्ख व्यक्ति कहलाता है इसके अलावा कोई

व्यक्ति अपने मित्रों के साथ गलत कार्य में संलग्न रहता है वह भी मूर्ख की श्रेणी में आता है।

वह व्यक्ति मूर्ख होता है जिसके पास जो होता है उसे पसंद नहीं करता और जो नहीं रहता है उसकी चाहत

रखता है।

जो व्यक्ति हमेशा बुरे कर्म करता है और शत्रु को मित्र बनाता है तथा मित्र से ईर्ष्या करता है वह बहुत बड़ा मूर्ख

होता है।

जो व्यक्ति कम समय के कार्य को अधिक समय तक करता है वह मूर्ख व्यक्ति कहलाता है।

जो व्यक्ति देवी देवताओं की पूजा नहीं करता और अपने पितरों का श्राद्ध नहीं करता वह व्यक्ति भी मूर्ख होता है।

जो व्यक्ति अविश्वसनीय लोगों पर विश्वास करता है और बिना बुलाए किसी स्थान पर पहुंच जाता है और बिना

कुछ बोले ही बोलने लगता है वह व्यक्ति भी मूर्ख होता है

जो व्यक्ति अपनी गलती का आरोप दूसरे के ऊपर लगाता है और हमेशा क्रोधित होता है वह मूर्ख व्यक्ति होता है।

जो व्यक्ति अपनी ताकत और क्षमताओं के अनुसार परिश्रम नहीं करता और जो उसे नहीं मिल सकता उसकी

कामना करता है वह व्यक्ति भी मूर्ख कहलाता है।

जो व्यक्ति किसी दूसरे को बिना कारण के दंड देता है और अज्ञानी व्यक्तियों से ज्ञान की बातें करता है वह मूर्ख

होता है।

Advertisement

Comments are closed.