सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

महामृत्युंजय मंत्र : इस मंत्र को सुनने मात्र से अकाल मृत्यु व गंभीर रोग निकट नहीं आते

6

महामृत्युंजय मंत्र: मृत्यु से कौन नहीं डरता हर व्यक्ति मृत्यु से डरता है हर व्यक्ति को मृत्यु से डर लगता है कोई भी व्यक्ति मरना नहीं चाहता।

अगर आज हम आपको एक ऐसा मंत्र बता दें जिससे आप दिन में 7 बार जाप करें तो आप मृत्यु से बच सकते हैं हां यह बात सही है क्योंकि भगवान शिव शंकर ने भी एक बार यह आजमा के देखा था दिन में 7 बार उन्होंने भी इस महामृत्युंजय मंत्र का जाप करके अपनी जान बचाई थी।

कहा जाता है कि उसके बाद अगर इस महामृत्युंजय मंत्र का जाप किया जाए तो व्यक्ति मौत से बच सकता है अगर मौत उसके नजदीक है तो इस मंत्र से वह मौत से बच सकता है।

मंत्र हमेशा व्यक्ति को मौत से बचाता है जो व्यक्ति इस मंत्र का दिन रात जॉब करता है उसके लिए भी बेहद लाभदायक है क्योंकि यह मंत्र उस व्यक्ति का पूर्ण रुप से सहयोग करता है।

उसे हर बाधा से बचाता है चाहे किसी प्रकार की समस्याओं उस पर नहीं आने देता कहा जाता है कि जो व्यक्ति इस मंत्र को पूरे दिल और लगन से जाप करें वह व्यक्ति जीवन में कभी भी किसी समस्या से नहीं घिर सकता।

हमेशा ही उस पर भगवान शिव शंकर का आशीर्वाद रहता है अगर आप भी महामृत्युंजय मंत्र को दिन में 7 बार जाप करें तो आपके लिए भी मौत को दूर भगाना आसान है।

ये हैं वो शक्तिशाली मंत्र

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्‌।

उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्‌॥

महामृत्युंजय मंत्र की महिमा

जब चंद्रमा को विजयपति दक्ष ने अभिषाप दिया था और चंद्रमा की मृत्यु निश्चित थी, तब चंद्रमा को मृत्यु से बचाने के लिए ऋषि मार्कंडेय ने माता सती को इस मंत्र का जाप करने कहा था और तो माता सती ने इस मंत्र का जाप किया और तब भगवान शिव ने चंद्रमा को अपने शिश पर धारण किया तो उस समय चंद्रमा को बचाया था। अगर आप जाप करना चाहते है तो सुबह 4 बजे से करते है उत्तम फलदायी होता है। इसकी महिमा इतनी है कि आप घर बैठे माला से जाप करते है बहुत अच्छा होगा। दवाईयां लेने वाले लोग यदि इस मंत्र का जाप करते है तो उनकी दवाईयां चार गुना असर ज्यादा करती है।

महामृत्युंजय मंत्र जाप की विधि

  • महामृत्युंजय मंत्र का जाम करने का ब्रह्म मुहूर्त सबसे अच्छा है।
  • लेकिन लोग इसे किसी समय कर सकते हैं।
  • जाप करने के लिए आसन बिछा ले, लाल आसन हो तो सबसे अच्छा है।
  • जाप करने के लिए अपना मुह पुर्व की तरफ कर लें।
  • एक गिलास पानी ले और उसे सीधे हाथ की हथेली से बंद कर दें।
  • इस मंत्र का एक हजार आठ बार जाप करें। मंत्र जाप पूरा जा जाए तब आप अपनी ऑफिस, घर, में छिरक दें और खुद पीलें।

Advertisement

Comments are closed.