एक अलग मुकाम हासिल किया है दुनिया के इन 7 अजूबो ने

1

हम हमेशा से दुनिया के सात अजूबों के बारे में सुनते हैं लेकिन हम में से बहुत से लोग उन सभी के बारे में जानकारी नहीं रखते। तोआज हम आपको दुनिया के उन्हीं 7 आश्चर्य के बारे में बताइए जिन्होंने अपनी खूबसूरती से दुनिया भर में एक अलग मुकाम हासिल किया है।

तो आइए जानते हैं विस्तार से

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

ग्रेट वॉल ऑफ चाइनाThese 7 wonders of the world have achieved a different place दुनिया

चीन की महान दीवार, चाइना में मौजूद दुनिया की सबसे लंबी और एक ऐतिहासिक दीवार है जिसका निर्माण कार्य 500 ईसा पूर्व से 17वीं शताब्दी तक चला था। लगभग 2000 सालों तक निर्माणाधीन रही इस दीवार की लंबाई 8000 किलोमीटर से भी ज्यादा है।

चीन की दीवार को मिट्टी, पत्थर और लकड़ी से बनाया गया है।

पेट्रा, जोर्डन

अरब देश जॉर्डन में स्थित पेट्रोल एक ऐतिहासिक नगरी है जिसका निर्माण 312 ईसा पुर्व किया गया था। आज के समय में पेट्रो दुनिया के सबसे खूबसूरत टूरिस्ट स्पॉट में से एक है और हर साल लाखों लोग इसे देखने आते हैं।

कॉलेसियम, रोमThese 7 wonders of the world have achieved a different place दुनिया

दुनिया को प्राचीनतम रोम साम्राज्य की वैभवता को दर्शाता कॉलेजियम, रोम शहर में स्थित एक अजूबा है। लगभग 50000 दर्शकों की क्षमता वाला इस प्राचीन स्टेडियम को 80 ईसवीं मेम बनाया गया था।

इसमें मनोरंजन के लिए योद्धाओं के बीच खूनी लड़ाई होती थी।

चिचेन इट्ज़ा, मेक्सिको

मेक्सिको के यूकाटन नामक जगह पर मौजूद चिचेन इट्ज़ा माया सभ्यता द्वारा बसाया गया एक शहर है जिसका निर्माण कोलंबस पूर्व युग में किया गया था।

यह शहर अपनी वास्तुकला के लिए दुनियाभर में जाना जाता है।

माचू पिच्चु, पेरूThese 7 wonders of the world have achieved a different place दुनिया

माचू पिच्चु इंका सभ्यता द्वारा बसाया गया एक ऐतिहासिक शहर है जिसका निर्माण 1450 ईसवीं में किया गया था। उरुबम्बा घाटी में एक पहाड़ के ऊपर बनाए गए इस शहर को साल 1911 में अमेरिकी इतिहासकार हिरम विन्घम ने खोजा था।

इसलिए इसे “लॉस्ट सिटी ऑफ इंका” भी कहा जाता है।

क्राइस्ट द रिडीमर, ब्राज़ील

क्राइस्ट द रिडीमर ब्राजील के रियो शहर में स्थित जीसस क्राइस्ट की एक विशालकाय प्रतिमा है।

जिसकी लम्बाई 98 फुट है।

इस प्रतिमा का निर्माण ईसाई धर्म के प्रतीक के रूप में साल 1931 में किया गया था।

आज इसे दुनियाभर से हर धर्म के लोग आते है।

ताजमहल, भारत

These 7 wonders of the world have achieved a different place

दुनिया के सात अजूबों में भारत के ताजमहल को भी शामिल किया गया है।

साल 1632 से 1653 तक निर्माणधीन रहे इस महल का निर्माण मुगल बादशाह शाहजहां द्वारा अपनी प्रिय पत्नी मुमताज की मौत के बाद उनके मकबरे के रूप में किया गया था।

इसे बनाने में लगभग 20 हजार कारीगरों ने दिन-रात काम किया था।

Advertisement

Comments are closed.