सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

हेल्थ टिप्स : तुलसी के पत्ते दूध में उबालकर पीने से दूर होजाएंगे यह 5 गंभीर रोग

14

आयुर्वेद के अनुसार तुलसी के पौधे में अनेक औषधीय गुण पाए जाते हैं। जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। दूध में तुलसी की पत्तियों को उबालकर पीने से कई जबरदस्त फायदे होते हैं। और शरीर की कई गंभीर बीमारियां दूर हो जाती हैं।

आइए विस्तार से जानते हैं। दूध में तुलसी के पत्ते उबालकर पीने से दूर हो जाते हैं ये 5 गंभीर रोग, जानिए सेवन की विधि।

Benefits of Boiled Basil leaves in milk , तुलसी

1. दमा रोग में फायदेमंद

दूध में तुलसी के पत्ते उबालकर पीने से सांस से संबंधित समस्याएं दूर हो जाती हैं।

यह दमा रोगियों के लिए फायदेमंद होता है।

2. माइग्रेन में फायदेमंद

दूध में तुलसी के पत्ते उबालकर पीने से माइग्रेन जैसी गंभीर बीमारी में फायदा मिलता है।

Benefits of Boiled Basil leaves in milk , तुलसी

3. तनाव और डिप्रेशन से राहत

तुलसी के पत्तों में हीलिंग प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं।

तुलसी के पत्तों को दूध में उबालकर पीने से तनाव और चिंता दूर हो जाते हैं।

और डिप्रेशन की समस्या से बाहर निकलने में सहायता मिलती है।

4. ह्रदय रोग और पथरी में फायदेमंद

दूध में तुलसी के पत्ते उबालकर पीने ह्रदय के लिए फायदेमंद होता है। इससे दिल से संबंधित बीमारियां होने का खतरा कम हो जाता है।

और अगर कोई व्यक्ति पथरी की बीमारी से पीड़ित है

तो दूध में तुलसी के पत्ते मिलाकर पीने से पथरी टूटकर शरीर से बाहर निकल जाती है।

Benefits of Boiled Basil leaves in milk , तुलसी

5. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए

tulsi में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

जिससे यह शरीर में कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओं को खत्म करने में सहायक होता है।

तुलसी के पत्ते में पाए जाने वाले एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल सर्दी, जुखाम और खांसी जैसी बीमारियों को दूर करते हैं।

सेवन की विधि

डेढ़ गिलास दूध को उबालने के लिए गैस पर रख दें।

और जब यह उबल जाए तो इसमें 8-10 tulsi की पत्तियां डालकर उबलते रहे।

जब तक दूध एक गिलास ना रह जाए।

इसमें आप स्वाद के लिए गुड़ भी डाल सकते हैं।

इसके बाद इसको ठंडा करके सेवन करें।

Advertisement

Comments are closed.