झोलाछाप डॉक्टर की क्लीनिक सील, गर्ल्स को देता था ऐसी दवा जिसे जान आप भी रह जाएंगे दंग – KhabarTak

0 191

झोलाछाप डॉक्टर की क्लीनिक सील, गर्ल्स को देता था ऐसी दवा जिसे जान आप भी रह जाएंगे दंग

राजधानी में एक झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई है। नर्सिंग होम एक्ट नोडल अधिकारी डॉ. अविनाश चतुर्वेदी ने मेडिकल एक्ट व नर्सिग होम एक्ट के

रायपुर. राजधानी में एक झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई है। नर्सिंग होम एक्ट नोडल अधिकारी डॉ. अविनाश चतुर्वेदी ने मेडिकल एक्ट व नर्सिग होम एक्ट के तहत कार्रवाई की। रामनगर स्थित झोलाछाप डॉक्टर की क्लीनिक सील कर दी गई है। छोलाछाप डॉक्टर पीएल वर्मा लंबे समय से जनरल प्रैक्टिस कर रहा था। वह बिना लाइसेंस के ही चिकित्सा और सामान्य ऑपरेशन कर रहा था। कई गल्र्स को अमानक दवाई दी थी। बता दें कि इस डॉक्टर को लेेकर क्षेत्रवासियों ने पूर्व में शिकायत की गई थी।

इसके बाद आज डॉ. चतुर्वेदी के नेतृत्व में टीम ने रामनगर में आरोपी डॉक्टर की क्लीनिक पर औचक छापा मारा। इस दौरान बिना मेडिकल लाइसेंस के ही मरीजों का इलाज करते पाए जाने पर झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की गई। मेडिकल टीम के जांच पड़ताल में बड़ी मात्रा में दवाइयां अमानक दवाई पाई गईं। इसे लेकर भी आरोपी के विरुद्ध अलग से कार्रवाई की जाएगी। वह बिना मेडिकल लाइसेंस के ही लोगों का इलाज कर रहा था। वह उसकी मेडिकल कोर्स को लेकर भी टीम ने पूछताछ की।

Read more: सोशल मीडिया पर मंत्री अजय और विधायक जोगी के बीच तीखी जंग, ये क्या बोल गए अमित

कई मरीजों के जीवन के साथ खिलवाड़

यह छोलाछाप डॉक्टर बिना चिकित्सकीय अनुभव और योग्यता के ही कई मरीजों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर चुका है। बिना अनुभव व नॉलेज के ही कई महिलाओं के छोटे-मोटे ऑपरेशन तक किए हैं। इससे परेशान होकर किसी मरीज ने मामले की शिकायत मेडिकल टीम से की थी। इसके बाद टीम ने आज औचक निरीक्षण के तहत आरोपी डॉक्टर की क्लीनिक पर छापा मारा। पहले तो आरोपी छोलाछाप डॉक्टर बचने के लिए कई जुमला देता रहा पर बाद में टीम के सख्त तेवर देख नरमी दिखाई।

Read more:ATM यूजर हैं तो जान लीजिए कैसे होती है ठगी, लुट चुके हैं 5 साल में 10 करोड़

बड़े पैमाने पर छोलाछाप डॉक्टर सक्रिय

ज्ञात हो कि राजधानी में बड़े पैमाने पर छोलाछाप डॉक्टर सक्रिय हैं। ज्यादातर राजधानी के आउटर में अपनी दुकानें चला रहे हैं और लोगों की जिंदगी के साथ खेल रहे हैं। उनके इसे पेशे से समूचा डॉक्टरी प्रोफेशन पर ही दाग लग रहा है। छोलाछाप डॉक्टरों के इलाज में कई मरीजों ने अपनी जान तक गंवा दी है। ज्यादातर गांवों में अब भी छोलाछाप डॉक्टर सक्रिय हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

Via Patrika

Original Article

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.