सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन, 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

गर्भवती महिलाओं के शरीर में होते हैं ये 5 बदलाव, रखें ध्यान

116
हेल्थ डेस्क: साइंस की बात करें तो जब कोई महिला गर्भवती हो जाती हैं तब महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं। इन बदलाव के बारे में महिलाओं को सही जानकारी होनी चाहिए ताकि महिलाएं अपने शरीर का ख्याल रख सकें। आज जानने की कोशिश करेंगे शरीर के इन्ही बदलाव के बारे में की गर्भवती होने के बाद महिलाओं के शरीर कौन कौन से बदलाव होते हैं। साथ ही साथ ये भी जानने की कोशिश करेंगे की इससे महिलाओं के शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता हैं। तो आइये जानते हैं विस्तार से की  गर्भवती महिलाओं के शरीर में होते हैं ये 5 बदलाव, रखें ध्यान। 
1 .शरीर का तापमान बढ़ जाता हैं, गर्भवती महिलाओं के शरीर में सबसे पहला और बड़ा बदलाव महिलाओं के शरीर के तापमान को लेकर होता हैं। जब कोई महिला गर्भवती हो जाती हैं तब महिलाओं के शरीर का तापमान पहले के मुकाबले बढ़ जाता हैं। महिलाओं को इससे चिंतित नहीं होनी चाहिए। लेकिन महिलाओं को समय समय पर डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए और अपने शरीर के तापमान की जांच करानी चाहिए। 
 
2 .शरीर में सूजन आने लगता हैं, गर्भवती महिलाओं के शरीर में एक बदलाव महिलाओं के वजन को लेकर भी होता हैं। साथ हीं साथ महिलाओं के शरीर में सूजन की समस्या जन्म ले लेती हैं। गर्भवती महिलाओं के शरीर में सूजन की ये समस्या हार्मोनिक परिवर्तन के कारण होता हैं। शरीर के इस बदलाव को महिलाएं नजरअंदाज ना करें और शरीर में सूजन होने पर डॉक्टर की सलाह लें। क्यों की शरीर में सूजन होने से गर्भ में शिशु का विकास ठीक तरीकों से नहीं हो पाता हैं। 
 
3 .कब्ज और गैस की समस्या, गर्भवती महिलाओं के शरीर में एक बदलाव कब्ज और गैस को लेकर भी होता हैं। गर्भवती होने के बाद महिलाओं के शरीर में पानी की कमी हो जाती हैं। जिसका सीधा असर महिलाओं के पाचन तंत्र पर पड़ता हैं। जिससे महिलाओं के पेट में कब्ज और गैस की समस्या होने लगती हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए महिलाएं भरपूर पानी का सेवन करें और डॉक्टर की सलाह लें। 
 
4 .तनाव और डिप्रेशन होता हैं, जब कोई महिला गर्भवती होती हैं तब महिलाओं के शरीर में ऑक्सीजन का फ्लो ठीक तरीकों से नहीं होता हैं। जिसके कारण गर्भवती महिलाओं के दिमाग में तनाव और डिप्रेशन की समस्या जन्म ले लेती हैं। इससे महिलाओं का शरीर अस्वस्थ हो जाता हैं तथा दिमाग में चिड़चिड़ापन की भावना बनी रहती हैं। शरीर के इस बदलाव को महिलाएं बिल्कुल भी नजरअंदाज ना करें और डॉक्टर की सलाह लें। 
 
5 .पेल्विक में दर्द की समस्या, गर्भवती महिलाओं के शरीर में एक बदलाव उनके पेल्विक में होता हैं। जब गर्भवती महिलाओं के शरीर में भूर्ण का विकास होता हैं तब शरीर की मांसपेशियों में खिचाव आता हैं। जिसके कारण महिलाओं के पेल्विक में दर्द की समस्या बनी रहती हैं। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। साथ ही साथ इससे बचने के लिए महिलाएं मॉर्निंग वॉक कर सकती हैं। 

Advertisement

Comments are closed.