कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते सिर्फ घर पर रहने के लिए बोला तो निकाला चाक़ू और कर डाले ताबड़तोड़ वार

4
crime news in delhi area

क्राइम न्यूज़ : जब से लॉकडाउन (Lockdown) हुआ है तब से कुछ न कुछ अजीबो गरीब घटनाएँ हमारे आसपास हो रही है ऐसी ही एक घटना दिल्ली में स्थित रघुवीर नगर के एरिया में हुई जहाँ शुक्रवार एक दिन एक आदमी ने अपने पास रहने वाले युवक को घर में रहने के लिए कहा उसने अपने दोस्त के साथ मिलकर चाकू से गोद दिया। आरोपियों ने पीड़ित मनीष पर ताबड़तोड़ आधा दर्जन से ज्यादा वार किए और फरार हो गए।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

इस घटना के बाद राजौरी गार्डन थाना की पुलिस ने घायल युवक को घायल को अस्पताल पहुंचाया, पुलिस ने इस घटना के बाद दोनों आरोपियों अरुण और जमील को उसके दोस्त के घर से गिरफ्तार कर लिया।
अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त समीर शर्मा ने बताया कि मनीष यही टीसी कैम्प रघुवीर नगर में रहता है और इसके पिता और ये खुद एक सब्जी की दूकान लगाते हैं और ये उनके साथ बैठता है, शुक्रवार के दोपहर मनीष का भाई संग्राम दुकान से सब्जी लेकर आ रहा था।

तभी दोनों आरोपियों ने उसे रोका तो कोरोना वायरस के चलते संग्राम ने वहां रुकने से बिलकुल मना कर दिया और उनको भी घर जाने के लिए बोला. इस पर बहुत तू तू – मैं मैं होने लगी मामला बहुत गंभीर हो गया और दोनों के बीच बहस मारपीट में बदल गई और झगड़ा शुरू हो गया। जब इस झगडे की खबर संग्राम के भाई मनीष तक पहुंची तो वह बीच बचाव करने पहुंचा इस बीच जमील ने अपने दोस्त अरुण के साथ मिलकर मनीष को चाकुओं से गोद डाला

इसी दौरान आरोपियों ने उसे रोका तो संग्राम ने उन्हें कोरोना वायरस फैलने के चलते रुकने से मना कर दिया और उन्हें भी घर जाने के लिए कहा। इस पर अरुण और संग्राम की बहस होने लगी। दोनों के बीच बहस मारपीट में बदल गई और झगड़ा शुरू हो गया। झगड़े की जानकारी होने पर मनीष वहां पहुंचा और अपने भाई का बीच-बचाव करने लगा। इस दौरान जमील ने अपने दोस्त अयण के साथ मिलकर मनीष को चाकू से गोद दिया।

आरोपियों ने युवक पर करीब 8 वार किए और मौके से फरार हो गए। परिजनों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। सूचना के बाद इंस्पेक्टर अनिल कुमार, एसआई अजय की टीम के साथ मौके पर पहुंचे और घायल को अस्पताल पहुंचाया। पुलिस टीम ने परिजनों के बयान पर संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर शनिवार को दोनों आरोपियों को उनके दोस्त के घर से दबोच लिया।

Advertisement

Comments are closed.