इयरफ़ोन का ज्यादा इस्तेमाल करने से क्या नुस्शान होता हे

0 248

आज के इस सोशल मीडिया के युग में हर किसी के पास मोबाइल फ़ोन है। ज्यादातर लोगों के पास स्मार्टफ़ोन हैं जबकि कुछ के पास साधारण फ़ोन भी हैं। आज के समय में फ़ोन लोगों के लिए खाने-पानी जितना जरुरी हो गया है। बिना फ़ोन के जैसे किसी चीज की कमी महसूस होती है। आजकल हर किसी के यहाँ तक की बच्चों के पास भी स्मार्टफ़ोन है। कई बार फ़ोन से होने वाले नुकसान के बारे में रिपोर्ट भी आ चुकी है, इसके बाद भी लोग इसका धड़ल्ले से इस्तेमाल कर रहे हैं। फ़ोन के साथ ही तेजी से इयरफ़ोन का भी इस्तेमाल बढ़ा है।

Related Posts

इन 5 अंगों को लगातार छूना संक्रमण का कारण हो सकता है

आजकल बच्चों से लेकर बूढ़े तक हर किसी को इयरफ़ोन कान में ठूंसकर बातें करते या गाना सुनते हुए देखा जा सकता है। कई लोगों को बिना इयरफ़ोन के गाना सुनने में मजा ही नहीं आता है। इयरफ़ोन लगाने से बाहार की आवाज बिलकुल भी सुनाई नहीं देती है, जिससे गाना सुनने का मजा दोगुना हो जाता है। इयरफ़ोन लगाकर ज्यादातर लोग गाना लाइब्रेरी, कॉलेज, यात्रा के दौरान करते हैं। कई बार यात्रा के दौरान इयरफ़ोन लगाकर गाना सुनना हानिकारक भी हो सकता है। इयरफ़ोन की वजह से आजकल कान से सम्बंधित कई समस्याएं सामने आ रही हैं। इयरफ़ोन के इस्तेमाल से होते हैं ये नुकसान:

लगातार काफी समय तक इयरफ़ोन का इस्तेमाल करने से कानों में दर्द की समस्या हो जाती है। अगर समय रहते आप अपनी इस आदत को नहीं बदलते हैं तो यह आपके कानों के लिए और भी ज्यादा हानिकारक हो जाती है।
कई लोगों की आदत होती है कि वह कान में इयरफ़ोन लगाकर तो गाना सुनते ही हैं, साथ ही आवाज भी काफी तेज रखते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार इंसानों का कान 65 डेसिबल तक की आवाज को सहन कर सकता है। लेकिन कई बार लोग इयरफ़ोन से ज्यादा तेज आवाज में गाने सुनते हैं। ऐसा लगातार करने पर बहरेपन की भी समस्या उत्पन्न हो जाती है।
अगर आप काफी समय से इयरफ़ोन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको नींद ना आना, मानसिक तनाव, डिप्रेशन और लगातार सिर दर्द की समस्या का भी सामना करना पड़ता है। इसी वजह से ज्यादा समय तक इयरफ़ोन के इस्तेमाल से बचना चाहिए।
एक शोध के अनुसार यह बात सामने आई है कि 10 मिनट से ज्यादा कानों में इयरफ़ोन लगाने से कानों की कोशिकाएं मरने लगती हैं। इस वजह से कान में बैक्टीरिया तेजी से बढ़ने लगते हैं और कान में मैल जमा होने लगती है। कानों में मैल ना जमें इसके लिए 10-15 मिनट गाना सुनने के बाद हर बार कानों की सफाई करें।
इयरफ़ोन से निकलने वाली विध्युत चुम्बकीय तरंगे दिमाग को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाती है। कुछ लोग रात को सोते समय गाना सुनते हैं। लोगों की इस आदत का उनके दिमाग पर बुरा असर पड़ता है।
कई बार लोग सड़क पर गाड़ी चलाते समय इयरफ़ोन लगाकर गाना सुनते हैं। इस वजह से पीछे से आने वाले वाहनों की आवाज सुनाई नहीं देती है। इस वजह से ज्यादातर दुर्घटना होने की सम्भावना बनी रहती है। इसलिए भूलकर भी गाड़ी चलाते समय इयरफ़ोन लगाकर गाना नहीं सुनना चाहिए।

Advertisement

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.